उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत के खिलाफ जारी हुआ गैर जमानती वारंट - cjm court of dehradun releases non bailable warrant against harak singh rawat





नई दिल्ली/देहरादून : देहरादून की सीजेएम अदालत ने उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया गया है. जानकारी के मुताबिक, कार्ट ने कई बार समन भेजने के बावजूद कोर्ट में पेश न होने पर कैबिनेट मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत और कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय समेत छह आरोपियों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया गया है. अदालत ने देहरादून की एसएसपी को चार मई तक इन सभी को अदालत के समक्ष पेश करने के निर्देश दिए हैं.


दरअसल, दो दिसंबर, 2009 में विधानसभा सत्र के दौरान कांग्रेस कार्यकर्ता तत्कालीन नेता प्रतिपक्ष हरक सिंह रावत के नेतृत्व में विधानसभा कूच कर रहे थे. पुलिस ने उन्हें रिस्पना में रोक दिया था. इस दौरान कांग्रेसी कार्यकर्ताओं और विधायकों ने पुलिस से धक्कामुक्की की. पुलिस ने कांग्रेसी कार्यकर्ताओं पर सत्र के दौरान शन्ति व्यवस्था भंग करने और पुलिस से धक्कामुक्की करने के आरोप में 25 नेताओं, कार्यकर्ताओं पर मुकदमा दर्ज किया गया था.


जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार (20 अप्रैल) देर शाम अदालत ने हरक सिंह रावत, किशोर उपाध्याय समेत पेश न हुए 6 लोगों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी करने के निर्देश दिए.



इस केस पर साल 2013 से सुनवाई चल रही है. अदालत ने सभी को कोर्ट में पेश होने के लिए जमानती वारंट जारी किए थे. कोर्ट में पेश होने के लिए शुक्रवार (20 अप्रैल) को आखिरी दिन था. जानकारी के मुताबिक पहले भी कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत और कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने पेश हो पाने में असमर्थता जताते हुए अदालत को प्रार्थनापत्र भेजा था. 


इस मामले में अन्य कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को सीजेएम कोर्ट में पहुंचे, जहां से उन्होंने जमानत ले ली. आपको बता दें कि कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल और कुंवर प्रणव चैम्पियन पहले ही जमानत ले चुके थे.
Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment