साइबर ठगों ने दो के खाते से रूपये निकले Cyber thieves get money from two accounts



वसुंधरा, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो )  वसुंधरा में रहने बाले एक कारोबारी के खाते से हजारों की रकम साइबर ठगों ने निकाल ली। इस तरह रकम का निकलना डेबिट कार्ड को बंद करा के नया कार्ड लिया तब भी रकम की निकासी बेलेंस जमा रहने तक जारी रही। 
            
वसुधरा सेक्टर-17 निवासी रंजन स्वरूप मोहन नगर में सिविल इंजीनियरिंग का ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट चलाते हैं। उन्होंने बताया कि उनकी बेटी नोएडा के एक स्कूल में पढ़ती है। बीती 19 जुलाई को उन्होंने स्कूल की साइट पर जाकर 57 हजार रुपये फीस जमा करनी चाही लेकिन किसी वजह से पेमेंट नहीं हो सकी। रात में उनके खाते से करीब 33,099 रुपये निकल गए। 20 जुलाई को उन्होंने अपना डेबिट कार्ड बंद करा दिया। बाद में उन्होंने अपना डेबिट कार्ड दोबारा चालू कराया। 25 जुलाई की मध्य रात्रि को रंजन के खाते से दोबारा 23 हजार रुपये निकल गए। 26 जुलाई की शाम को ठगों ने फिर से 32 हजार रुपये निकाल लिए। उनके पास खाते से रुपये निकलने का कोई मैसेज नहीं आया। 27 जुुलाई को उन्होंने इंटरनेट बैंकिंग के जरिए खाते की बची राशि देखी तो ठगी का पता चला। उन्होंने पहले बैंक में शिकायत की। इसके बाद मंगलवार को उन्होंने इंदिरापुरम थाने में शिकायत दी है।
        
पुलिस ने मामले को जांच के लिए साइबर सेल भेजा है। थाना प्रभारी सचिन मलिक ने बताया कि पीड़ितों की शिकायत पर पुलिस दोनों मामले में जांच कर रही है जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार करने का प्रयास किया जा रहा है ।
                  
इसके अलावा इंदिरापुरम के ज्ञानखंड-1 में रहने वाली रागिनी के साथ भी ठगी हो गयी। रागिनी ज्ञानखंड में परिवार के साथ रहती हैं। उन्होंने बताया कि बुधवार शाम साढ़े छह बजे वह शिप्रा रिवेरा के गेट नंबर-1 स्थित एटीएम बूथ से रुपये निकालने गईं थी। वह रुपये निकालकर बाहर निकल रहीं थी कि बूथ में खड़ी युवती ने उन्हें वापस बुलाया और कहा कि आपकी स्लिप नहीं निकली है मशीन में दोबारा डेबिट कार्ड लगाओ। रागिनी ने मशीन में दोबारा डेबिट कार्ड लगाया। इसके बाद युवती ने डेबिट कार्ड मशीन से निकाला और बदल दिया। युवती के कहने पर रागिनी ने मशीन में पिन नंबर भी डाला। युवती ने पिन नंबर देख लिया। रागिनी का कहना है कि महिला ने बुधवार रात दो बार में 77 हजार रुपये और गुरुवार को 40 हजार रुपये निकाले। मोबाइल पर मैसेज आने के बाद उन्हें ठगी का पता चला। उन्होंने तुरंत अपना डेबिट कार्ड बंद कराया। रागिनी ने इंदिरापुरम थाने में मामले की शिकायत दी है। उनका कहना है कि एटीएम बूथ के सीसीटीवी में आरोपित युवती कैद है।



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment