केवाईएस कार्यकर्ताओं ने राखी बांधकर फैलाया सांप्रदायिक सौहार्द का सन्देश KYS activists spread the message of communal harmony by spreading rakhi



  • सांप्रदायिक हिंसा की बढ़ती घटनाओं और नफरत के खिलाफ लगातार दूसरे वर्ष मनाया सांप्रदायिक सौहार्द दिवस
  • केवाईएस लोगों के बीच शांति और आपसी विश्वास के लिए सांप्रदायिक हिंसा के खिलाफ एकजुट संघर्ष का आह्वाहन करता है


नई दिल्ली, ( विशेष संवाददाता )  रक्षा बंधन के मौके पर आज क्रांतिकारी युवा संगठन (केवाईएस) कार्यकर्ताओं ने सांप्रदायिक सौहार्द का संदेश फैलाते हुए दिल्ली में आम लोगों को राखी बाँधी। यह कार्यक्रम जामा मस्जिद सहित दिल्ली के अन्य इलाकों में किया गया। केवाईएस का मानना है कि देश में लगातार बढ़ रहे साम्प्रदायिक हमलों से देश भर में अल्पसंख्यकों के बीच भय का माहौल पैदा हुआ है। पिछले कुछ वर्षों में भाजपा सरकार के शासन में आने के बाद साम्प्रदायिक हिंसा की घटनाओं में तेजी से बढ़ोत्तरी देखी गयी है। सांप्रदायिक भीड़ द्वारा अंजाम दी जा रही हिंसा की घटनाओं को आरएसएस-भाजपा सरकार का खुला समर्थन मिल रहा है। इस तरह की हिंसा को खत्म करने की जगह, आरएसएस-भाजपा सरकार और सम्बद्ध संगठन सांप्रदायिक हिंसा भड़काकर विभिन्न समुदायों के बीच परस्पर घृणा का माहौल बना रहे है।

केवाईएस का मानना है कि इस समय जब देश आर्थिक समस्याओं से जूझ रहा है और लोग सस्ती शिक्षा, बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं और रोजगार की मांग कर रहे हैं, उस समय उनका ध्यान भटकाने के लिए इस तरह का साम्प्रदयिक माहौल बनाया जा रहा है। इससे भाजपा सरकार का आम लोगों की समस्याओं के प्रति उदासीन रवैया साफ प्रदर्शित होता है। राजनीतिक फायदे और लोगों को भटकाने के लिए भाजपा सरकार देश में सांप्रदायिक आतंकवादियों को खुला बढ़ावा दे रही है, जबकि लोगों की समस्याओं की उसे कोई भी चिंता नहीं है।
हमारे देश में अशांत व नफरतपूर्ण माहौल को देखते हुए, आज केवाईएस ने राखी बांधकर लोगों के बीच सांप्रदायिक सौहार्द, शांति और विश्वास बनाने की बात रखी। साथ ही, कार्यकर्ताओं और मौजूद आम लोगों ने सांप्रदायिक ताकतों के खिलाफ लड़ने के लिए संकल्प लिया।



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment