राफेल मामले पर CVC से मिले कांग्रेस नेता, भ्रष्टाचार का मामला दर्ज करने की मांग Congress leader met CVC on Rafael's case, demanding a case of corruption



नयी दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने राफेल मामले में सोमवार को केंद्रीय सतर्कता आयुक्त (सीवीसी) के वी चौधरी से मुलाकात कर आग्रह किया कि इस विमान सौदे में हुए कथित ‘भ्रष्टाचार’ को लेकर मामला दर्ज किया जाए और इससे संबंधित रिकॉर्ड की छानबीन की जाए ताकि ‘भ्रष्टाचार, सांठगांठ वाले पूंजीवाद (क्रोनी कैपिटलिज्म), कानून एवं प्रक्रिया के उल्लंघन तथा सरकारी खजाने को हुए नुकसान’ की बात जल्द से जल्द सार्वजनिक हो सके।

हाल ही में कैग से मुलाकात कर मामले की जांच का आग्रह करने वाले कांग्रेस नेताओं ने सीवीसी के समक्ष राफेल विमान सौदे का विवरण रखा और कहा कि वह अपने ‘विधायी कर्तव्य’ का निर्वहन करते हुए ‘भ्रष्टाचार’ का मामला दर्ज करें और रिकॉर्ड की छानबीन करें।

सीवीसी से मुलाकात करने वाले कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल में राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद, पार्टी के कोषाध्यक्ष अहमद पटेल, वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा, कपिल सिब्बल, रणदीप सुरजेवाला, जयराम रमेश, अभिषेक मनु सिंघवी, मनीष तिवारी, विवेक तन्खा, प्रमोद तिवारी और प्रणव झा शामिल थे। 

दरअसल, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी पिछले कई महीनों से यह आरोप लगाते आ रहे हैं कि मोदी सरकार ने फ्रांस की कंपनी दसाल्ट से 36 राफेल लड़ाकू विमान की खरीद का जो सौदा किया है, उसका मूल्य पूर्ववर्ती यूपीए सरकार में विमानों की दर को लेकर बनी सहमति की तुलना में बहुत अधिक है। इससे सरकारी खजाने को हजारों करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। पार्टी ने यह भी दावा किया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सौदे को बदलवाया और एचएएल से ठेका लेकर रिलायंस डिफेंस को दिया गया।




Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment