केवाईएस ने मणिपुर विश्वविद्यालय छात्रों एवं शिक्षकों पर हुए दमन के खिलाफ आयोजित विरोध मार्च में हिस्सेदारी निभाई KYS held stake in Manipur University protest against protest against students and teachers



न्यायिक रिमांड पर लिए गये सभी शिक्षकों और छात्रों को तुरंत रिहा करने की माँग उठायी

नई दिल्ली, ( विशेष संवाददाता )  क्रांतिकारी युवा संगठन (केवाईएस) कार्यकर्ताओं ने आज मणिपुर विश्वविद्यालय में छात्रों और शिक्षकों पर हुए पुलिसिया दमन के विरोध में दिल्ली विश्वविद्यालय में आयोजित विरोध मार्च में हिस्सेदारी निभाई| मार्च को कैंडल लाइट जलाकर आर्ट्स फैकल्टी के विवेकानंद मूर्ती पर खत्म किया गया| केवाईएस छात्रों और शिक्षकों पर हुए दमन की कड़ी भर्त्सना करता है| ज्ञात हो कि यह दमन राज्य भाजपा सरकार के इशारों पर किया गया था| यह मणिपुर विश्वविद्यालय में छात्र, शिक्षक एवं कर्मचारी पिछले 3 महीनों से कुलपति अद्य प्रसाद पांडे के खिलाफ आन्दोलन थे| ज्ञात हो कि कुलपति पर भारी विसंगतियां करने का गंभीर आरोप था, जिसको लेकर आन्दोलन के दबाव में अब जाँच बिठाई गयी है| परन्तु, यह जांच बिठाकर अब केंद्र और राज्य की भाजपा की सरकारें आन्दोलन को दबाना चाहती हैं, जिस कारण दमन किया जा रहा है| 21 सितम्बर को हुए रेड में छात्रों और शिक्षकों को हिरासत में भी लिया गया था और उनपर बर्बरतापूर्वक हमला किया गया था|

क्रांतिकारी युवा संगठन (केवाईएस) संघर्ष कर रहे छात्रों को समर्थन देता है और इस हमले को देश भर के अन्य विश्वविद्यालयों में हो रहे हमलों के रूप में देखता है| केवाईएस माँग करता है कि सभी हिरासत में लिए गये छात्रों और शिक्षकों को बिना शर्त तुरंत रिहा जाएगा| साथ ही, मणिपुर विश्वविद्यालय में मौजूद सभी पुलिसकर्मियों, मिलिट्री और पैरामिलिट्री कर्मियों को तुरंत विश्वविद्यालय से बाहर किया जाए| वो आंदोलनरत छात्रों और शिक्षकों के कुलपति पांडे को भी बर्खास्त करने का समर्थन करता है|



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment