भारत से बातचीत के लिए इच्छुक है पाकिस्तान, इमरान ने PM मोदी को लिखा खत Pakistan wants to talk to India, Imran writes to PM Modi



इस्लामाबाद। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिख कर दोनों देशों के बीच रिश्तों के लिए चुनौती बने आतंकवाद और कश्मीर सहित सभी अहम मुद्दों पर द्विपक्षीय बातचीत शुरू करने इच्छा जताई है। विदेश कार्यालय ने यहां यह जानकारी दी। पाकिस्तान के नवनिर्वाचित प्रधानमंत्री इमरान ने 14 सितंबर को पत्र लिखा है जिसमें इस माह न्यूयॉर्क में होने वाली संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक से इतर विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी और उनकी भारतीय समकक्ष सुषमा स्वराज के बीच एक बैठक कराने का प्रस्ताव दिया है।

खान ने लिखा, ‘‘हमारे दोनों देशों के बीच शांति की साझा इच्छा पर आगे बढ़ते हुए मैं विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के बीच एक बैठक का प्रस्ताव पेश करता हूं। यह बैठक न्यूयॉर्क में होने वाली संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक से इतर सार्क देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक से पहले कराने का प्रस्ताव है।’’ इससे पहले मोदी ने 18 अगस्त को मोदी को पत्र लिखा था जिसके जवाब में इमरान ने अपने इस पत्र में लिखा कि पाकिस्तान और भारत के बीच ‘निर्विवाद रूप से चुनौतीपूर्ण रिश्ते’ हैं।

मोदी ने अपने पत्र में पाकिस्तान के साथ सार्थक और रचनात्मक सहयोग की भारत की प्रतिबद्धता का जिक्र किया था और आंतक मुक्त दक्षिण एशिया बनाने के लिए मिल कर काम करने की जरूरत पर जोर दिया था। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने ट्वीट किया, ‘‘प्रधानमंत्री (इमरान खान) ने प्रधानमंत्री मोदी को सकारात्मक भावना से जवाब दिया है। हमें बातचीत करनी चाहिए और सभी मुद्दों को हल करना चाहिए। हमें भारत से औपचारिक जवाब मिलने का इंतजार है।’’।

पत्र में खान ने लिखा,‘‘बहरहाल हमारी जनता के प्रति यह हमारा कर्तव्य है खासतौर पर आने वाली पीढ़ी के लिए कि हम जम्मू कश्मीर के मामले सहित सभी मुद्दों को शांतिपूर्ण ढंग से हल करें। ताकि मतभेदों को दूर किया जा सके और ऐसा परिणाम निकले जो दोनों के लिए फायदेमंद हो।’’ इसके अलावा उन्होंने प्रधानमंत्री बनने पर मोदी की ओर से मिली बधाई और शुभकामनाओं के लिए उनका शुक्रिया अदा किया।



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment