नेताओं का युवाओं से आव्हान, राजनीति गंदा काम इस मिथक को तोड़ने के लिए सियासत में आएं Politicians challenge the youth, politics dirty work, come to the state to break this myth




नयी दिल्ली,   (भाषा) भाजपा, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी (आप) ने शनिवार को युवाओं से कहा कि वे इस मिथक को तोड़ें की राजनीति ‘‘गंदा काम’’ है और अपील की कि देश को आगे ले जाने के लिये युवा सार्वजनिक जीवन में आएं।

इंडिया टुडे माइंड रॉक्स यूथ समिट के उद्घाटन सत्र में यहां भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा, कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी और आप प्रवक्ता राघव चड्ढा ने यह बात कही।

युवाओं से सार्वजनिक जीवन में आने का अनुरोध करते हुए पात्रा ने कहा, ‘‘एक प्रसिद्ध कहावत है--अगर अच्छे लोग राजनीति का हिस्सा बनने के लिये तैयार नहीं होंगे, तो उन्हें बुरे लोगों द्वारा शासन के लिये तैयार रहना चाहिए।’’  उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ऊर्जा युवाओं को आकर्षित करने में सक्षम है।

चतुर्वेदी ने कहा कि युवा अगर चाहते हैं कि राजनेता उनकी भाषा बोलें तो उन्हें राजनेताओं से जुड़ना चाहिए।

उन्होंने कहा कि प्रत्येक राजनेता को युवाओं के लिये आदर्श होना चाहिए और उनकी अकांक्षाओं को पूरा करने में सक्षम होना चाहिए और कांग्रेस पार्टी आने वाले समय में इसी पर अपना ध्यान केंद्रित करेगी।

चड्ढा ने कहा, ‘‘परंपरागत रूप से परिवार अपने बच्चों के लिये चिकित्सा, इंजीनियरिंग और चार्टर्ड अकाउंटेंसी जैसे आकर्षक, मानक और पारंपरिक करियर चाहते हैं। वे सामान्यत: सोचते हैं कि राजनीति गंदा काम है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘भारत की 65 फीसदी आबादी 35 साल से कम उम्र की है। 2020 में भारत की औसत आयु 29 वर्ष होगी। इसलिये भारत के युवाओं के लिये यह महत्वपूर्ण है कि वे आगे आयें रजनीति में हिस्सा लें।’’

वंशवाद की राजनीति पर भारतीय जनता पार्टी के पात्रा ने कहा, ‘‘यह आपके और मेरे जैसे लोगों को सालों तक राजनीति की मुख्यधारा में घुसने का मौका नहीं देती। विकास की राजनीति में सबसे बड़े अवरोधों में से एक वंशवाद की राजनीति है।’’


Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment