जिलाधिकारी की अध्यक्षता में हुई प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की समीक्षा बैठक Review Meeting of Pollution Control Board headed by District Magistrate



गाजियाबाद, ( प्रमुख संवाददाता )   जिलाधिकारी रितु माहेश्वरी ने कलेक्टेªट सभागार में प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की समीक्षा बैठक की।  उन्होने नगर निगम नगर पालिका, आवास विकास परिषद व सडकों पर पानी के टेैकंरों द्वारा दिन में दो बार छिड़काव किये जाने के निर्देश दिये। 

यू0पी0एस0आई0डी0सी0 के अधिकारी द्वारा बताया गया कि उनके पास प्रदूषण रोकने हेतु संसाधनो की कमी है जिससे प्रदूषण हटाने का कार्य किया जा सके।  उन्होने प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि वे बडे-बडे उद्यमियों से कहे कि वे अपने पानी के टैकंर खरीद ले और छिड़काव में इन्डस्ट्रियल वेस्ट वाटर का प्रयोग करें। उन्होने कहा कि एन0एच0-58 सबसे ज्यादा प्रदूषित क्षेत्र है। जनपद की प्रमुख सडको पर पानी का छिडकाव बहुत आवश्यक है। स्थानीय निकायों द्वारा जहाॅ -जहाॅ निर्माण कार्य कराये जा रहे है निर्माण सामग्री ढक कर रखी जाये। खुले में पडी हुई निर्माण सामग्री पर भारी अर्थदण्ड लगाने के निर्देश दिये। एन0एच0ए0आई0 के अधिकारी अपनी निर्माणाधीन सामग्री पर छिडकाव कराते रहे। उन्होने कृषि अधिकारी से कहा कि किसान अपने क्षेत्र में कृषि से सम्बन्धित वेस्ट पराली इत्यादी न जलाये तथा उसे डीकम्पोज करे। लोक निर्माण विभाग निर्माणदायी संस्थाओ से समन्वय बनाये। जो संस्था प्रदूषण के नियमों का पालन नही करेगी ई0पी0 एक्ट के तहत निर्माण कार्य रूकवा दिया जायेगा। 
उन्होने बताया कि नगर निगम व जी0डी0ए0 हरित कार्य कराने हेतु कार्य योजनाए बनाये। करहैडा मोड वाली रोड पर से कूडा  हटाकर हरित कार्य कराये जाये। माॅल मल्टप्लेक्स और सभी उद्योगो पर हरित कार्य होना चाहिये। समीक्षा में परिवहन अधिकारी ने बताया कि हमारे द्वारा 153 गाडियों का चालान प्रदूषण के संबंध में किया गया है। 15 साल पुरानी गाडियों में 12 गाडियों का चालान हुआ है बाकी को नोटिस जारी किये गये है। जिलाधिकारी ने कहा कि जो ट्रक बिना ढके हुये माल ढो रहे है उन पर कार्यवाही करते हुये चालान निर्गत किये जाये जिसकी रिपोर्ट सम्बन्धित उप जिलाधिकारी गण को भेजी जाये। एस0पी0 टैªफिक द्वारा बताया गया कि वायू प्रदूषण के अन्तर्गत  228 चालान किये गये है । 
उन्होने बताया कि खाली पडे प्लाटो में जो कूडा जलाया जाये उस पर प्रतिबन्ध लगे और सम्बन्धित पर भारी अर्थदण्ड लगाया जाये। जो पोलीथिन के गौदाम सील किये गये थे उनकी इन्वेटंरी बनाकर प्रोसेस करे जो होर्डिग्स हटाये गये है उनके यूनीपोल स्थापित है उन्हे भी हटवा दिया जाये। उन्होने प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों को कहा कि सभी भट्टा संचालको को नोटिस जारी करे जो जिग-जैक का पालन नही करेगा उस पर कार्यवाही की जायेगी। विधुत विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि जिन अवैध इन्डस्ट्रीज के विधुत कनैक्शन काट दिये गये है उनके पुनः संचालित न करे। 
इस अवसर पर एस0पी0 टेैªफिक एस0एन0 शर्मा अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व सुनील कुमार, उप जिलाधिकारी सदर विेवेक मिश्रा प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारी अशोक तिवारी सभी अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद तथा अन्य विभाग के अधिकारी उपस्थित रहे। 



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment