मुठभेड़ में तीन आतंकी ढेर, जवान शहीद, दो नागरिक मरे Three militant piles, youth martyr, two civilians dead in encounter



श्रीनगर ।   कश्मीर घाटी में गुरुवार को आतंकवादियों की घेराबंदी और तलाशी अभियान के दौरान सुरक्षा बलों के साथ अलग-अलग मुठभेड़ में एक पूर्व विशेष पुलिस अधिकारी (एसपीओ) समेत तीन आतंकवादी मारे गये जबकि सेना का एक जवान शहीद हो गया।
इस बीच अलग-अलग स्थानों पर कथित रूप से सुरक्षा बलों की गोलीबारी में एक बीकन अधिकारी समेत दो नागरिक मारे गये। 
आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि सुरक्षा बलों और जम्मू-कश्मीर पुलिस के विशेष अभियान समूह (एसओजी) के अभियान में अनंतनाग जिले के दूरू शाहाबाद में आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ के दौरान तीन सैनिक घायल हो गये। घायल सैनिकों को अस्पताल पहुंचाया गया जहां एक सैनिक की मौत हो गयी। मृतक जवान की पहचान हैप्पी सिंह के रुप में की गयी है जो 19 राष्ट्रीय राइफल से जुड़ा हुआ था। 
सुरक्षा बलों की जवाबी कार्रवाई में लश्कर-ए-तैयबा का कमांडर आसिफ मलिक मारा गया जबकि अन्य आतंकवादी अंधेरे का फायदा उठाकर भाग निकलने में कामयाब हो गए।
पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि मलिक अचाबल में इस वर्ष केंद्रीय रिजर्व पलिस बल पर हुए हमले समेत सुरक्षा बलों पर हुए कई हमलों तथा नागरिकों पर अत्याचार की कई घटनाओं में शामिल था। 
सूत्रों ने बताया कि आतंकवादियों की मौजूदगी की एक अन्य खुफिया सूचना के आधार पर सेना, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल और पुलिस के विशेष अभियान समूह ने सुबह बडगाम जिले के पनजान गांव में संयुक्त अभियान शुरू किया। इसी दौरान स्थानीय जामिया मस्जिद में छिपे आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों पर स्वचालित हथियारों से गोलीबारी की। जवाबी कार्रवाई में सुरक्षा बलों नेे भी गोलियां चलायी। दोनों ओर हुई गोलीबारी के दौरान दो आतंकवादी मारे गये।
मृतक आतंकवादी की पहचान शिराज अहमद भट और इरफान अहमद डार के तौर पर की गई है और दोनों हिजबुल मुजाहिद्दीन से जुड़े हुए थे। डार पूर्व में एक एसपीओ के तौर पर काम कर रहा था और चंद माह पहले उसने नौकरी छोड़ दी थी। 
सूत्रों के मुताबिक गोलीबारी के दौरान एक जवान घायल हो गया। जवान को तत्काल अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उसकी हालत स्थिर बतायी जाती है। 


Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment