मतदाता पुनरीक्षण कार्यक्रम व विचार गोष्ठी का हुआ आयेजन Voter Revision Program and Ideology



मुख्य निर्वान अधिकारी एल0वेकटेश्वर लू ने की गोष्ठी की अध्यक्षता 

गाजियाबाद, ( प्रमुख संवाददाता )  हिन्दी भवन में आयोजित मतदाता पुनरीक्षण कार्यक्रम व विचार गोष्ठी आयोजित की गयी। गोष्ठी में आये मुख्य अतिथि मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल0वेकटेश्वर लू ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार दिनांक 01 सितम्बर 2018 से 31 अक्टूबर 2018 तक यह अभियान चलाया जा रहा है साथ ही आम जन को जागरूक करने के लिए यहा विचार गोष्ठी आयोजित की गयी है। 

उन्होने कहा कि गत वर्ष के निर्वाचन का प्रतिशत 56 प्रतिशत रहा है जबकि अन्य जिलों की तुलना में गाजियाबाद जिला सबसे ज्यादा जागरूक है जो कि प्रजा तंत्र की दृष्टि से ठीक नही है। यहाॅ पर तकनीकी विकास भी बहुत हुआ है और चुनावी हिन्सा भी अब बन्द हो चुकी है फिर भी मतदान में जन सामान्य की प्रतिभागिता बहुत कम है।  स्वीप के माध्यम से रगोली नुक्कड नाटक इत्यादि से जनता में जागरूकता लाने का प्रयास कर रहे है फिर भी मतदान कम है । ग्रामीण क्षेत्रों के वजाय शहरी क्षेत्रों में पढे लिखे लोग भी मतदान करने नही जाते। प्रशासनिक व्यवस्था में मतदाता ही सर्वोपरी है और राजा है। प्रजा तंत्र की मंशानुसार समाज के आखिरी व्यक्ति के चेहरे पर मुस्कुराहट होनी चाहिए। प्रशासनिक व्यवस्था में उस नागरिक का सम्मान व विकास का ध्यान रखा जायेगा। आम जन ने मूल सिद्वान्त से नाता तोड लिया है। 

71 वर्ष बाद भी आम जनता समस्याओं से जूझ रही है क्योकि सही व्यक्ति का चुनाव नही कर पाते बहुत से संगठन भी इस सिद्वान्त पर कार्य नही कर रहे है। न्याय समानता और बन्धुत्व कहा से मिलेगा निर्वाचन में मदिरा व धन उपहारों से दूरी बनायेगें तभी व्यवस्था सुधरेगी । मतदाता सूची में सभी का नाम दर्ज होना चाहिये। मतदाता सूची का कार्य विधिक प्रक्रिया से किया जाता है। हर वर्ष सितम्बर अक्टूबर माह में संक्षेप पुनरीक्षण किया जाता है। आलेख प्रकाशन कराया जाता है। जनता को पढने के लिए मतदाता सूची को सार्वजनिक किया जाता है। त्रुटि पाये जाने पर उसको ठीक करने के उपरान्त अन्तिम मतदाता सूची प्रकाशित करायी जाती है। भारत निर्वाचन आयोग की मंशा के अनुरूप स्कूूलों व कालेजों में निर्वाचन प्रक्रिया पाठ्यक्रम में शामिल की जायेगी। बच्चों को औपचारिक शिक्षा के माध्यम से निर्वाचन सम्बन्धी जानकारी दी जायेगी। और कालेजों में मतदाता साक्षरता समिति बनायी जायेगी।

 विचार गोष्ठी में जिलाधिकारी रितु माहेश्वरी ने कहा कि पुनरीक्षण कार्यक्रम के अन्तर्गत 3033 मतदान स्थल तथा 694 मतदान केन्द्र बनाये गये है। जनपद में 3033 बी0एल0ओ0 नियुक्त है 694 पदार्भिहित अधिकारियों की तैनाती पुनरीक्षण अवधि के लिए की गयी है। 234 सुपरवाईजर नियुक्त है। राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों के द्वारा अभी बी0एल0ए0 नियुक्त नही किये गये है। 20 सितम्बर 2018 को उप जिलाधिकारीगण मुनादी करा दें कि मतदाता सूची पढकर सुनाई जायेगी। महिला मतदाता व दिव्यांग मतदाता का नाम सूची में जरूर दर्ज होगा। उन्होने कहा कि इस पुनरीक्षण कार्यक्रम के साथ-साथ जनपद में मतदाता जागरूकता कार्यक्रम भी संचालित किये जा रहे है। नये मतदाता अपना नाम मतदाता सूची में जरूर दर्ज कराये जिनका नाम छूट गया है या पता परिर्वतन कराना है तो जरूर कराये । 
भारत निर्वाचन आयोग व जिला प्रशासन उत्कृष्ठ निर्वाचन के लिए प्रयासरत है। वोटिगं प्रतिशत बढना चाहिये इस आयोजन का यही मुख्य उद्देश्य है। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी रमेश रंजन अपर जिलाधिकारी प्रशासन जितेन्द्र कुमार सभी उप जिलाधिकारीगण व सहायक निर्वाचन अधिकारी स्कूल कालेजों के शिक्षक व शैक्षिक प्रतिष्ठानों के छात्र-छात्रायें पत्रकार गण वरिष्ठ नागरिक इत्यादि उपस्थित रहे। 



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment