कसक ज़्यादा जो होती थी तो ज़्यादा मुस्कुराते थे Who was more than a smile



कविताओं से दी गई अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि

गाज़ियाबाद,  (  सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो )    भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री स्व अटल बिहारी वाजपेयी की स्मृति में काव्यांजलि कार्यक्रम का आयोजन कर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए गए। महानगर भाजपा की तरफ से मार्शल महल में आयोजित प्रोग्राम में कृष्णमित्र, विजेंद्र सिंह परवाज़, राज कौशिक, वागीश दिनकर, रमा सिंह, अंजू जैन, विनोद पांडे, अशोक नागर और पीयूष मालवीय आदि कवियों और शायरों ने अटल जी के सम्मान में काव्यपाठ किया। संचालन कर रहे राज कौशिक का अटल जी के व्यक्तित्व पर पढ़ा गया ये शेर बहुत पसंद किया गया... 
ज़माने से वो गम अपना हमेशा यूं छुपाते थे
कसक ज़्यादा जो होती थी तो ज़्यादा मुस्कुराते थे
भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री अरुण सिंह मुख्य अतिथि थे जबकि यूपी के मंत्री अतुल गर्ग, केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह की पत्नी भारती सिंह, मेयर आशा शर्मा और सांसद अनिल अग्रवाल विशेष अतिथि के रूप में मौजूद रहे। कार्यक्रम संयोजक अशोक गोयल, महा नगर अध्यक्ष मान सिंह गोस्वामी, क्षेत्रीय महामंत्री अशोक मोंगा समेत बड़ी संख्या में भाजपा पदाधिकारियों ने कवियों और अतिथियों का स्वागत किया। कवि सम्मेलन का संचालन पत्रकार व शायर राज कौशिक ने किया।


Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment