बीएसएफ के जबान ने विवाद में साथी को गोली मारी-मौत BSF spokesman shot dead fellow in controversy



                                  मृतक कांस्टेबिल जगप्रीत सिंह का फाइल फोटो।
साहिबाबाद, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो )  दिल्ली में होने बाले किसान आंदोलन के चलते गाजियाबाद से होकर जाने वाली किसानों की रैली की सुरक्षा के लिए आए बीएसएफ के एक जवान की उसी की बटालियन के जवान ने सोमबार की सुवह सोते समय गोली मार कर हत्या कर दी। रविवार की शाम  में दोनों जवानों के बीच विवाद हुआ था। तब साथियों ने दोनों में समझौता करा दिया था। लेकिन सोमवार को दिन निकलने के साथ ही सुबह 6बजे के करीव एक जवान ने अपनी इंसास राइफल से दूसरे सैनिक जगप्रीत सिंह पर सोते समय कई गोलियों दाग कर उसकी हत्या कर दी। साथी घायल जवान को एक नजदीकी अस्पताल ले गये वहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया ।
       
जानकारी के अनुसार दिल्ली में आंदोलन के लिए आ रहे किसानों की यात्रा को लेकर पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा के लिए व्यापक बंदोबस्त किये हैं तथा स्थानीय पुलिस प्रशासन की मदद के लिये विभिन्न थाना क्षेत्रों में अर्धसैनिक बलों के जबानों को ठहराया गया है। थाना लिंक रोड क्षेत्र के ब्रिज विहार स्थित बाल भारती स्कूल में भोंडसी गुरूग्राम हरियाणा प्रदेश की 95वीं बीएसएफ की एक बटालियन को ठहरा हुआ है। रविवार की रात को इस बटालियन के दो जवान जगप्रीत सिंह और अजीत सिंह ने पहले साथ बैठ कर दारू पी फिर दोनों के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया। तब तो मामला साथ के जवानों ने दोनों जबानों को समझा बुझा कर शांत करा दिया था। लेकिन सोमवार की सुबह में दिन निकलते ही सुबह करीब 6 बजे अजीत सिंह ने जगप्रीत सिंह नाम के जबान को सोते समय उसकी कनपटी पर अपनी इंसास राइफल की नाल को सटा कर गोली मार दी। घायल जगप्रीत सिंह को नजदीकी अस्पताल में बीएसएफ के अधिकारी और जवान ले गए। वहां चिकित्सकों ने  उसे मृत घोषित कर दिया। मृतक के शरीर में जांध,कोख तथा गर्दन के पास अनेक गांलियां लगी हैं। 
       
 मृतक जवान (कांस्टेबिल) जगप्रीत सिंह पुत्र जस्सा सिंह निवासी भामवोईम थाना रंगर नागल जिला गुरूदासपुर पंजाब का रहने वाला था। आरोपी जवान अविवाहित (कांस्टेेबिल) अजीत सिंह पुत्र मनजीत सिंह निवासी मलकापुर पठानकोट पंजाब को थाना लिंकरोड की पुलिस ने गिरफ्तार कर हत्या में प्रयुक्त रायफल को कब्जे मे ले लिया है। इस घटना से स्कूल और आसपास के इलाके में दहशत का माहौल है। इसके बावजूद स्कूल प्रबंधन ने बच्चों की छुट्टी नहीं की  है। बच्चों के अभिभावक इस बात को लेकर बड़े परेशान हैं कि गोलीबारी की इस घटना को सुनकर बच्चों के कोमल मन मस्तिष्क पर प्रतिकूल असर पड़ सकता है।
     
वारदात को देखते हुए जिला गाजियाबाद के छोटे बड़े सभी पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे हुए हैं और मृतक जवान जगप्रीत सिंह के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है। 




Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment