गांधी के याद में बच्चों ने निकाली ‘स्वच्छता अभियान’ जागरूकता रैली Children's Remedies 'Sanitation Campaign' awareness rally in memory of Gandhi




  • स्कूल प्रांगण में महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री को पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गई। 
  • रैली में बच्चें स्वच्छता के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए स्लोगन लिखे बैनर ले रखे थे। 
  • जीटी रोड़ पर आते - जाते लोगों ने गाड़ियां रोक बच्चों का हौसल्ला बढ़ाया


साहिबाबाद, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो ) आज महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती और लाल बहादुर शास्त्री के जन्मदिन को शांति निकेतन पब्लिक सकूल के बच्चों ने स्वच्छता अभियान के तहत जागरूकता रैली निकाल मनाया। बच्चों में इस मौके पर भारी उत्साह देखा गया। 

रैली की शुरूआत स्कूल प्रागंण से किया गया जो नगर निगम कार्यालय, कटोरी मिल चैराहा, मोहन नगर पुलिस चैकी, दूर्गा मंदिर से होते हुए राजीव कालोनी में आकर समाप्त हुआ। इस मौके पर बच्चें अपने हाथों में स्वच्छता के लिए स्लोगन लिखे तख्तियां ले रखे थे। रैली के दौरान उत्साह से भरे बच्चे देशभक्ति के नारे तथा महापुरूषों के जयकारे लगाते हुए चल रहे थे। जी टी रोड़ से गुजरते समय बच्चों के रैली को देखकर आते - जोते लोगों ने अपनी गाड़ियां रोक दिया और बच्चों को विक्टरी का चिन्ह बना तथा उनके नारे में अपनी आवाज मिला हौसला बढ़ाया। मोहन नगर चैकी के पास तैनात पुलिसकर्मियों ने बच्चों के रैली को देखकर ट्रैफिक को व्यवस्थित करने लगे। पुलिस के ऐसे सराहनीय कार्य देख बच्चों में उत्साह देखा गया। बाद में रैली राजीव कालोनी से होते हुए स्कूल प्रागंण में आकर समाप्त हुआ। 

स्कूल में महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री के चित्र पर माला तथा पुष्प अर्पित कर उन्हें याद किया गया। इस मौके पर स्कूल प्रबंधक संजय त्रिपाठी ने महात्मा गांधी तथा लाल बहादुर शास्त्री के जीवन पर प्रकाश डालते हुए बच्चों से उनके बताये मार्ग पर चलने की प्रेरणा दी। उन्होंने कहा कि जो देश, समाज और मानवता के हित में कार्य करता है दुनिया में वह अमर हो जाता है। लोग उसे इसी तरह याद करते है। 

स्कूल के अध्यक्ष राजेन्द्र सिंह चैहान ने कहा कि महात्मा गांधी मरने के बाद भी आज अमर है। पूरा देश उनहें याद कर रहा है। हम सब को भी देश को आगे बढ़ाने तथा स्वच्छ  भारत बनाने के लिए कार्य करना चाहिए। इस मौके पर रैली का नेतृत्व प्रदीप शर्मा ने किया। कार्यक्रम में मनीष पांण्डेय, रजनी जोशी, उर्मिला दूबे, सोहन पाल तथा श्रीपाल का सराहनीय योगदान रहा।   



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment