दिल्ली हाई कोर्ट ने हाशिमपुरा नरसंहार कांड में निचली अदालत का फैसला पलटा ,सभी आरोपियों को उम्र कैद Delhi High Court overturns decision of HC to Hashimpura massacre




नयी दिल्ली । दिल्ली उच्च न्यायालय ने उत्तर प्रदेश के ‘हाशिमपुरा हत्याकांड’ में निचली अदालत के फैसले को पलटते हुए आरोपी प्रांतीय सशस्त्र कांस्टेबुलरी (पीएसी) के सभी 16 जवानों को दोषी करार दिया है और उन्हें उम्र कैद की सजा सुनायी है।

यहां की तीस हजारी कोर्ट ने मेरठ के हाशिमपुरा में 22 मई 1987 को हुए नरसंहार में सभी आरोपियों को सबूतों के अभाव में वर्ष 2015 में बरी कर दिया था।

न्यायमूर्ति एस मुरलीधर और न्यायमूर्ति विनोद गोयल की खंडपीठ ने बुधवार को फैसला सुनाते हुए कहा कि जवानों ने लक्ष्य करके अल्पसंख्यक समुदाय के 42 लोगों की हत्या की थी। परिजनों को न्याय के लिए 31 साल तक इंतजार करना पड़ा। 

खंडपीठ ने याचिका की सुनवायी के बाद अपहरण,हत्या और साक्ष्य मिटाने की भारतीय दंड संहिता की धाराओं के तहत सभी जवानों को उम्र कैद की सजा सुनायी।
संपादक कृपया शेष पूर्व प्रेषित से जोड़ लें।

Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment