शोध के लिये मेवाड़ बनाएगा खास खबरों की डिजीटल लायब्रेरी Digital Library of special news will create Mewar for research



                                                    गुटगुटिया को सम्मानित करते डा.गदिया।

वसुंधरा, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो )  वसुंधरा स्थित मेवाड़ ग्रुप आॅफ इंस्टीट्यूशंस जल्द ही विभिन्न अखबारों की महत्वपूर्ण खबरों की डिजिटल लायब्रेरी तैयार करेगा। इससे बच्चे विभिन्न विषयों के बारे में तथ्यात्मक जानकारियां एक ही स्थान पर आसानी से प्राप्त कर सकेंगे। शोध के लिए विद्यार्थियों को इस लायब्रेरी से बहुत मदद मिलेगी। लायब्रेरी के लिए 42 विषयों की 10 हजार से अधिक खबरों को संकलित कर शहर के प्रमुख समाजसेवी रामनाथ गुटगुटिया ने मेवाड़ ग्रुप आॅफ इंस्टीट्यूशंस को सौंपा है। खबरों के रिकार्ड संग्रह के लिए श्री गुटगुटिया का नाम लिम्का बुक आॅफ रिकाड्र्स में भी शामिल किया गया है। मेवाड़ इंस्टीट्यूशंस ने श्री गुटगुटिया को इसके लिए सपत्नीक विवेकानंद सभागार में आयोजित एक समारोह में सम्मानित किया। 

इस अवसर पर श्री गुटगुटिया ने कहा कि उन्होंने वर्ष 1976 से विभिन्न समाचार पत्रों की महत्वपूर्ण खबरों को संग्रहीत करना शुरू किया था। 42 विषयों पर दस हजार से अधिक कतरनें उनके पास थीं, जो वह मेवाड़ को सौंप रहे हैं। उन्हें विश्वास है कि विद्यार्थी इससे लाभान्वित होंगे। मेवाड़ ग्रुप आॅफ इंस्टीट्यूशंस के चेयरमैन डाॅ. अशोक कुमार गदिया ने बताया कि इन खबरों के संग्रह की जल्द ही वह एक डिजीटल लायब्रेरी तैयार करवाएंगे। शोध के विद्यार्थियों को इससे बहुत लाभ मिलेगा। सभी जानकारियां जुटाने के लिए उन्हें इधर-उधर भटकना नहीं पड़ेगा। जल्द ही सभी खबरें इंटरनेट पर मेवाड़ की वेबसाइट पर नजर आएंगीं। उन्होंने बताया कि चित्तौड़गढ़ राजस्थान स्थित मेवाड़ विश्वविद्यालय में भी दो महत्वपूर्ण पुस्तकालय बनाये गये हैं। एक में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी से जुड़ी जानकारियां, डाक टिकटें, सिक्के, पुस्तकें, गांधी के दुर्लभ चित्रों को संजोया गया है। दूसरे पुस्तकालय में सरदार वल्लभ भाई पटेल के बारे में तमाम वस्तुएं व जानकारियां एकत्र कर विद्यार्थियों के लिए मुहैया कराई गई हैं। उन्होंने घोषणा की कि मेवाड़ इस प्रकार के ऐतिहासिक संदर्भों, चीजों, साहित्य आदि को संजोकर आधुनिक तकनीकों के माध्यम से अपने विद्यार्थियों को उपलब्ध कराने के लिए प्रयासरत है और रहेगा। 

रक्षा मंत्रालय की हिन्दी सलाहकार समिति के पूर्व सदस्य डाॅ. राम प्रकाश सरस, संजय गुटगुटिया, बबीता गुटगुटिया आदि भी इस मौके पर मौजूद थे। डाॅ. गदिया ने रामनाथ गुटगुटिया, उनकी पत्नी सुशीला देवी व राम प्रकाश सरस को मेवाड़ की ओर से शाॅल, स्मृति चिह्न व अभिनंदन पत्र सौंपकर सम्मानित किया। सम्मान समारोह का सफल संचालन सुप्रसिद्ध कवि व मेवाड़ ग्रुप आॅफ इंस्टीट्यूशंस के सहायक निदेशक चेतन आनंद ने किया। इस मौके पर भारी संख्या में विद्यार्थी व शिक्षकगण मौजूद थे।





Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment