दिल्ली में जबरन प्रवेश कर रहे किसानों पर पानी की बौछार, आंसू गैस के गोले दागे Due to water shock, tear gas shells on farmers entering Delhi



                                    यूपी गेट पर जमे किसान तथा दिल्ली व  यूपी की पुलिस।

साहिबाबाद, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो )  हरिद्वार से चल कर दिल्ली की ओर जा रही किसानों की रैली को उत्तर प्रदेश की सीमा यूपी गेट से दिल्ली गाजीपुर की सीमा में दिल्ली पुलिस ने प्रवेश नहीं करने दिया। मंगलवार की सुवह 6 बजे से दिल्ली सीमा पर डटे किसानों को यूपी पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारियों का समझाना बेअसर हो गया और किसानों के सब्र का बांध टूट गया तो किसानों ने अपने ट्रेक्टर ट्राली दिल्ली सीमा की ओर मोड़ दिये। नतीजा यह हुआ कि दिल्ली सीमा पर किसानों को रोकने के लिये लगाये गये बैरियर भी टूटने लगे। इसके बाद किसानों पर पुलिस ने पानी का बौछार और आंसू गैस के गोले दागे। दस मिनट तक चले इस संघर्ष में किसानों को पीछे हटना पड़ा। बाद में किसान यूपी की सीमा में फिर से जम गये हैं।    .                 .        

घटनाक्रम के अनुसार दोपहर 11.30 बजे के करीब दिल्ली पुलिस द्वारा किसानों पर किये गये शक्ति के प्रयोग में पानी की बौछार और आंसू गैस के गोलों से किसानों का हौंसला टूट गया और वे पीछे की ओर भागने लगे। बाद मेें पुलिस ने उन पर हल्का बल प्रयोग कर यूपी सीमा में धकेल दिया। इसमें कई किसान घायल हो गये। किसानों के बल को तोड़ने के लिये दिल्ली पुलिस ने किसानों के ट्रेक्टरों की हवा निकाल दी। इसके बाद किसान यूपी की सीमा के अंदर जमकर बैठे हैं। करीव 11.45 बजे किसान नेता राकेश टिकैट के मौके पर पहुंचने पर किसानों में फिर से जोश आ गया। वहां मौके पर पहुंचे दिल्ली पुलिस के संयुक्त आयुक्त आरपी उपाध्याय यूपी से मेरठ के मंडलायुक्त अनीता सी मेश्राम एवं आईजी मेरठ ने भी किसानों को समझाने का प्रयास किया फिर किसान नेता राकेश टिकैत से देश के गृहमंत्री राजनाथ सिंह से फोन पर बात करायी। 
       
                                                                   घायल एक युवक।
हांलाकि किसानों की नौ मांगों में से सात मांगे दिल्ली की केन्द्र सरकार ने मान ली है लेकिन फिर भी समाचार लिखे जाने तक संघर्ष की स्थिति बनी हुई है और  किसान यूपी की सीमा में डेरा डालकर जमे हुए हैं।
        
उधर गाजियाबाद की जिलाधिकारी रितू महेष्वरी ने बताया कि एक 65 साल के व्यक्ति को सीने में दर्द के कारण जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है उसे कोई चोट नहीं लगी है। तीन मामले हल्की चोट के आये है जिन्हें मैक्स अस्पातल में हल्की सर्जरी के बाद छुट्टी दे दी गयी है। करीव 5 लोगों को प्राथमिक उपचार यशोदा अस्पातल में देकर घर भेज दिया गया हैं।





Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment