मानव तस्करी की सूचना पर पुलिस का छापा Police raids on information of human trafficking



इंदिरापुरम, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो )  इंदिरापुरम के न्याय खंड-2 स्थित सृजन विहार सोसायटी के तीन फ्लैटों से सोमवार शाम दिल्ली पुलिस की सूचना पर इंदिरापुरम पुलिस ने छापा मार कर 28 लड़कियों को मानव तस्करों के चंगुल से मुक्त कराया है। यह लड़कियां विदेश में नौकरी दिलाने के नाम पर इन लड़कियों को नेपाल व भारत के विभिन्न राज्यों से मानव तस्करी के लिए लाया जाना बताया जा रहा है। जानकारी के अनुसार लड़कियों को पिछले तीन माह से तीन फ्लैटों में बंधक बनाकर रखा गया था। पुलिस ने फ्लैट से 5 नेपाली मूल के युवकों को भी गिरफ्तार किया है। तीन माह पूर्व नेपाल की 30 लड़कियों को खाड़ी देशों में घरों में काम करने के लिए नेपाल से लाया गया था। सभी लड़कियों के न्याय खंड स्थित सृजन सोसाइटी के तीन फ्लैटों में रखा गया था। इस दौरान दो लड़कियां फ्लैट से भागकर दिल्ली में घरेलू सहायिका का काम करने वाली अपनी एक रिश्तेदार के पास पहुंच गई। जिसकी मदद से गीता कॉलोनी निवासी एक दंपत्ति को अन्य लड़कियों के भी बंधक बनाए जाने की जानकारी दी। जिसके बाद दंपति ने दिल्ली पुलिस को सूचना दी। 

दिल्ली से कुछ पुलिसकर्मी दोनों लड़कियों और सूचना देने वाले को लेकर इंदिरापुरम थाने पहुंचे। सोमवार शाम करीब पांच बजे इंदिरापुरम पुलिस ने न्यायखंड-2 स्थित सृजन विहार सोसायटी के फ्लैट नंबर सी-5, डी-24 और आई-7 में पहुंची। जहां पर 28 लड़कियों को प्लैट में बंद कर रखा गया था। पुलिस ने सभी को मुक्त कराया। एसएसपी गाजियाबाद वैभव कृष्ण ने करीब डेढ़ घंटे तक लड़कियों और मौके से पकड़े गए आरोपियों की पहचान रोमियो जोशी, ध्रुव पांडेय, केदारनाथ , विकास बहादुर धीमरे और रामेन्द्र गिरी के रूप में की गई है। सभी आरोपी मूल रूप से नेपाल के रहने वाले है। आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। पुलिस ने आरोपियों पर अनैतिक देह व्यापार और मानव तस्करी की धाराओं में मामला दर्ज किया है।

पुलिस अधिकारियों का कहना है किबंधक बनाई गई लड़कियों को खाड़ी देशों में नौकरी दिलाने के नाम पर दिल्ली के नेपाली एजेंट के जरिए यहां लाया गया था। प्रति युवती के नौकरी पर एजेंट को 5000 रूपये मिलने की बात भी सामने आई है।पुलिस मुक्त कराई गई लड़कियों की काउंसिलिंग करा रही है। मामले में जांच की जा रही है। मामले में देह व्यापार या लैंगिक उत्पीडन की बात सामने नहीं आई है। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।




Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment