कजाखिस्तान यात्रा अधूरी छोड़ स्वदेश लौटेंगी सीतारमण Travel to Kazakhstan incomplete will return home



नयी दिल्ली ।  रूस के राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन की गुरूवार से शुरू हो रही भारत यात्रा के दौरान एस-400 हवाई रक्षा मिसाइल प्रणाली के सौदे पर हस्ताक्षर होने की संभावना के बीच रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण अपनी कजाखिस्तान यात्रा अधूरी छोड़ आज रात स्वदेश लौट रही हैं। 

सूत्रों के अनुसार श्रीमती सीतारमण बुधवार रात या स्वदेश लौट रही हैं जबकि निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार उन्हें 7 अक्टूबर को वापस आना था। 

राष्ट्रपति पुतिन 4 अक्टूबर से दो दिन की भारत यात्रा पर आ रहे हैं। वह 19 वें भारत रूस शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने आ रहे हैं। उनकी यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच 5 अरब डालर से अधिक के मिसाइल प्रणाली खरीद समझौते पर हस्ताक्षर होने की संभावना है। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार मास्को में श्री पुतिन के विदेश नीति विभाग ने कहा है कि उनकी यात्रा के दौरान इस सौदे पर हस्ताक्षर होंगे। 

दोनों देशों के बीच इस सौदे को लेकर लंबे समय से बातचीत चल रही है। रक्षा मंत्री सीतारमण कह चुकी हैं कि इस सौदे को लेकर बातचीत पूरी हो चुकी है और इसे कभी भी अमलीजामा पहनाया जा सकता है। 

एस-400 उन्नत मिसाइल रोधी प्रणाली है जो किसी भी प्रकार के हवाई लक्ष्य को मार गिराने में सक्षम है। यह 400 किलोमीटर की दूरी से भी लक्ष्य को भेदने में सक्षम है। 

भारत ने पहले ही स्पष्ट कर दिया है कि रूस पर अमेरिकी प्रतिबंधों के बावजूद वह इस सौदे पर हस्ताक्षर करेगा। उसने अमेरिका को भी इसकी जानकारी दे दी है। अमेरिका चाहता है कि उसके प्रतिबंधों के चलते भारत को रूस से यह मिसाइल प्रणाली नहीं खरीदनी चाहिए। 



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment