किसानों की समस्याओं पर आयुक्त गम्भीर, उप गन्ना आयुक्त को दिये कड़े निर्देश Critical instructions given to commissioner, serious, sub-sugarcane Commissioner on farmers' problems



  • पांच दिन तक वैध हो गन्ना पर्चियां, प्राथमिकता पर करायें एसएमएस पर्ची से तौल-आयुक्त
  • असामाजिक तत्वों के बहकावे में न आयें किसान-अनीता सी मेश्राम 
  • कृषकों को दो दिवस में वितरित करायें गन्ना कैलेण्डर-आयुक्त

             
मेरठ, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो )  मण्डल के गन्ना किसानों की समस्याओं का प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण करने के उद्देश्य से आयुक्त अनीता सी मेश्राम ने मण्डल के उप गन्ना आयुक्त को निर्देशित किया कि वह सुनिश्चित करें कि सभी चीनी मिलें कम से कम 92 प्रतिशत प्लान क्षमता से नीचे न चलें तथा गन्ना पर्चियों को पांच दिन तक वैध कराया जाए तथा एसएमएस पर्ची से तौल कराने को प्राथमिकता दी जायें तथा गन्ना क्रय केन्द्रों पर घटतौली की जांच हेतु  विभागीय टीम गठित कर औचक निरीक्षण कराया जाए। आयुक्त ने मण्डल के किसानों से अपील की कि वह धैर्य रखे तथा असामाजिक तत्वों के बहकावे में न आयें। 
आयुक्त अनीता सी मेश्राम ने किसानों को आश्वस्त करते हुए कहा कि सभी किसानों का गन्ना मिलों द्वारा क्रय किया जाएगा। उन्होनंे उप गन्ना आयुक्त को निर्देशित किया कि वह सुनिश्चित करें कि चीनी मिलें गन्ना समितियों को पांच दिन पूर्व समानुपातिक इंडेट जारी करें। उन्होंने निर्देशित किया कि वह गन्ना तौल पर्ची की प्रतिदिन समीक्षा की जाए तथा असामाजिक तत्वों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई अमल में लायी जाए।
आयुक्त ने कहा कि गन्ना किसानों की समस्याओ को लेकर उनके स्तर से प्रतिदिन समीक्षा की जा रही है तथा किसी भी प्रकार की लापरवाही व घपलेबाजी मिलने पर या शिकायत प्राप्त होने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। आयुक्त ने बताया कि क्षेत्र की सभी 16 चीनी मिलों द्वारा पेराई कार्य प्रारम्भ कर दिया गया है तथा अब तक परिक्षेत्र की समस्त चीनी मिलों द्वारा लगभग 141 लाख कुंतल से अधिक गन्ने की पेराई की जा चुकी है। उन्होंने बताया कि गन्ना कैलेण्डर एक दो दिवस में सभी कृषकों को वितरित करा दिया जाएगा। 
आयुक्त ने बताया कि पेराई सत्र 2017-18 के अवशेष गन्ना मूल्य भुगतान हेतु साबितगढ एवं दौराला चीनी मिल को साफट लोन प्राप्त हो गया है। उन्होंने निर्देशित किया कि उक्त चीनी मिलों किसानाों के खातों में भुगतान की राशि को आज ही अंतरित करें। उन्होंने उप गन्ना आयुक्त को निर्देशित किया कि मंडल के सभी गन्ना विभाग के अधिकारी कार्यालय में बैठकर गन्ना किसानों की समस्याओं का निस्तारण करें तथा गन्ना तौल केन्द्रों  पर किसानों को पेयजल एवं ठंड से बचाव हेतु अलाव व अन्य व्यवस्थाओं को सुनिश्चित करायें।



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment