डीएम ने प्रान कार्ड के अनिवार्यता पर दिया जोर DM gives emphasis on the essentials of PRAN card



गाजियाबाद, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो )  कलेक्टेªट सभागार में अशंदायी पेंशन प्रणाली को सभी विभागें के कर्मचारियों पर लागू करने हेतु डीएम रीतु माहेश्वरी ने बैठक की। 

उन्होने बताया कि इस प्रणाली के द्वारा कर्मचारी को एक व्यक्तिगत पेंशन खातें के रूप में स्थाई सेवा निवृत्ति खाता संख्या-(पी0आर0ए0एन0) उपलब्ध कराया जाता है। जो कि अद्वितीय है और स्थान और रोजगार में परिर्वतन होने पर भी उसका उपयोग किया जा सकता है। प्रान कार्ड के साथ-साथ आपको एक आईपिन और टीपिन भी उपलब्ध कराया जाता है जिसका उपयोग अपना पेंशन खाता संचालित करने के लिए कर सकते है। 
मुख्य कोषाधिकारी ने बताया कि विभिन्न विभागों के कर्मचारियों के प्रान लम्बित है। पी0ए0सी0 41 के 02 शेष है। जिला पंचायत राज अधिकारी कार्यालय के 8 अवशेष है। स्वास्थ्य विभाग के 141 ई0एस0आई0 के 14 लम्बित है जिला विद्यालय निरीक्षक के 16 बेसिक शिक्षा विभाग के 16 लम्बित है। उद्यान विभाग के 3 लघु सिंचाई के 6 ग्रामीण विकास विभाग के 22 समाज कल्याण विभाग के एक खेल विभाग के 2 प्रशिक्षण व सेवा योजन के 16 परिवहन का एक तथा प्रोबेशन कार्यालय के 2 लम्बित है। जिलाधिकारी ने कहा कि रिकन्साईल करके लम्बित प्रान कार्र्डो को बनाने का कार्य जल्द से जल्द किया जाये। उन्होने कहा कि केन्द्रीय स्वशासी निकायों की सेवाओं में नियुक्त होने वाले सभी कर्मचारियों के लिए एन0पी0एस0 अनिवार्य है। उन्होने शासन द्वारा प्राप्त सूची व कोषागार द्वारा प्राप्त सूची का मिलान करने हेतु सम्बन्धित को निर्देष दिये। 
बैठक में अपर जिलाधिकारी प्रशासन, मुख्य कोषाधिकारी, जिला विद्यालय निरीक्षक, जिला उद्यान अधिकारी, समाज कल्याण अधिकारी, सहित सम्बन्धित विभाग के अधिकारी उपस्थित थे। 



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment