मशहूर गायक मोहम्मद अजीज नहीं रहे Noted singer Mohammad Aziz



मुंबई, ( शांतिदूत न्यूज नेटवर्क )  ‘माई नेम इज लखन’ और ‘लाल दुपट्टा मलमल का’ जैसे कई सुपरहिट गानों से श्रोताओं के दिलों में जगह बनाने वाले जाने-माने गायक मोहम्मद अजीज का मंगलवार को हृदयगति रुकने से निधन हो गया। वह 64 वर्ष के थे। उन्होंने अंतिम सांस मुंबई के नानावती अस्पताल में ली।

अजीज ने बाॅलीवुड ही नहीं बंगाली और उड़िया में भी अपनी रसीली आवाज की धाक जमायी। उनका जन्म दो जुलाई 1954 को पश्चिम बंगाल के अशोक नगर में हुआ। वह गायकी में 1982 में सक्रिय रहे और अंत तक अपनी कर्णप्रिय आवाज से लोगों को मंत्रमुग्ध करते रहें।

प्राप्त जानकारी के अनुसार अजीज कोलकाता में एक कार्यक्रम में हिस्सा लेकर मुंबई लौटे थे और हवाई अड्डे पर ही उनकी तबीयत खराब हो गयी। कार में बैठने के बाद अजीज ने ड्राइवर से अपनी तबीयत खराब होने के बारे में बताया । उन्हें नानावती अस्पताल ले जाया गया। डाक्टरों ने उनकी जांच कर बताया कि अजीज को दिल का दौरा पड़ा और उन्हें मृत घोषित कर दिया गया ।

अजीज ने सुपरस्टार अमिताभ बच्चन के लिए कई गाने गाए जिनमें ‘मर्द’ पिक्चर का “ मर्द तांगेवाला” गाना गाया। उन्होंने लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल, कल्याणजी-आनंदजी के अलावा कई अन्य प्रमुख संगीतकारों के निर्देशन में गायकी के जलवे बिखेरे।  गायकी के शुरुआती जीवन में अजीज कोलकाता के गालिब रेस्त्रां में गाया करते थे और फिर मुंबई की तरफ रुख किया। वह मोहम्मद रफी की गायकी के कायल थे। संगीतकार लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल के निर्देशन में खुदगर्ज फिल्म का हिट गाना ‘आपके आ जाने से’ अजीज की ही आवाज का जादू था।
अजीज की बेटी साना अजीज ने कहा “ हमें करीब तीन बजे पता चला । वह कोलकाता से मुंबई आ रहे थे । यात्रा के दौरान कोई न कोई उनके साथ रहता था । हमें फोन आया कि डेड की तबियत खराब है । उनकी हृदय की धमनी में रुकावट थी। वह हवाई अड्डे पर ही गिर पड़े।”

गायक ने पिछले तीन दशकों के दौरान हिंदी, बंगाली और उड़िया फिल्मों में गायकी के अलावा देश और विदेश में कई स्टेज शो भी किए। अजीज के गाये सैकड़ों गाने लोकप्रिय हुए जिनमें ‘लाल दुपट्टा मलमल का’, ‘माई नेम इज लखन’, तू कल चला जाएगा और ‘दिल ले गई तेरी बिदिंया’ आज भी अक्सर गुनगुनाये जाते हैं।




Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment