जिला व ब्लाक स्तरीय समितियों की एक दिवसीय कार्यशाला One day workshop of district and block level committees



                                            प्रतिकात्मक फोटो 
गाजियाबाद, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो ) नारी सशक्तिकरण संकल्प अभियान का आज  मुख्य मंत्री द्वारा लखनऊ में शुभारम्भ किया गया। इधर डीएम की अध्यक्षता में केंद्र सरकार और प्रदेश सरकार के योजनाओं के प्रचार - प्रसार एवं क्रिसान्वय हेतु एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। 

महिलाओं के जीवन स्तर को वेहतर गुणवत्ता प्रदान करने हेतु प्रधान मंत्री उज्जवला योजना के तहत एक करोड महिलाओं को एल0पी0जी0 कनेक्शन मिला। प्रधान मंत्री जनधन योजना के तहत पहली बार 2.5 करोड महिलाओं के बैंक खाते खोले गये। प्रधान मंत्री मुद्रा योजना के तहत महिला उद्यमियों को 12 हजार करोड़ रूपये का बैंक ऋण प्रदान किया गया। प्रधान मंत्री आवास योजना के अन्तर्गत (शहरी) के अन्तर्गत 2.79,355 महिलाओं को आवास दिया गया प्रधान मंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के अन्तर्गत 7,01,539 महिलाओं को आवास दिया गया। ग्रामीण क्षेत्रों में 1.7 करोड से अधिक शौचालयों का निर्माण किया गया और 90 हजार से अधिक गांव को ओडिएफ घोषित किया गया। अन्त्योदय कार्ड के माध्यम से 3.5 करोड महिलाओं को सामाजिक रूप से सुदृढ बनाया गया। 23 लाख से अधिक वरिष्ठ महिलाओं को लाभ पहंुचाने के लिए विधवा पेंशन योजना हेतु 60 वर्ष की आयु सीमा को समाप्त कर दिया गया। 
राज्य में महिलाओं के जीवन स्तर को सुदृढ करने के लिए विवाह पंजीकरण अनिवार्य कर दिया गया। कठिन परिस्थितियों में रह रही महिलाओं को पुनर्वास व राहत प्रदान करने हेतु स्वाधार गृह बनाये गये जिसमें 17 हजार से अधिक महिलाओ को मदद मिली। महिला उत्पीडन जैसी गम्भीर समस्या के निदान हेतु 181 वुमेन हेल्पलाईन पावर टीम का गठन किया गया जिसके अन्तर्गत 64 रेस्क्यू वैनों को कार्यान्वित किया गया। महिलाओं को एक सुरक्षित वातावरण देने के लिए एंटी-रोमियों स्क्वाॅड का गठन किया गया। जिसके अन्तर्गत 3,400 से अधिक ईव-टीजरों के खिलाफ कार्यवाही की गयी। कम समय में न्याय प्रदान करने हेतु 25 फास्ट ट्रैक कोर्ट को मंजूरी दी गयी। मुस्लिम महिलाओं की सुरक्षा के लिए ट्रिपल तलाक अध्यादेश पारित किया गया। स्वास्थ्य विभाग के अन्तर्गत मिशन इन्द्र धनुष योजना में 47 लाख गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण किया गया। प्रधान मंत्री मातृत्व बन्दना योजना के तहत 10.44 लाख गर्भवती महिलाओ को उनकी स्वस्थ गर्भावस्था सुनिश्चित करने के लिए 6 हजार रूपये का नगद प्रोत्साहन  मिला गर्भवती महिलाओ को मिलने वाले मातृत्व अवकाश को 12 हफते से बढाकर 26 हफते कर दिया गया है। अहिल्या वाई कन्या निशुल्क शिक्षा योजना के तहत लडकियों को स्नातक स्तर तक की शिक्षा मुफत में प्रदान की जा रही है। प्रधान मंत्री कौशल विकास योजना के तहत 2.69 लाख लडकियों को प्रशिक्षित किया गया। उ0प्र0 के सभी जिलों में महिला भूण हत्या को रोकने के लिए बेटी बचाओ बेटी पढाओं योजना लागू की जा रही है। 
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी, जिला प्रोबेशन अधिकारी, बेसिक शिक्षाधिकारी, जिला विद्यालय निरीक्षक, पंचायती राज अधिकारी, बाल विकास परियोजना अधिकारी, स्कूल की शिक्षिकाए, आगंनवाडी, आशाएं, तथा एन0जी0ओ0 की सामाजिक कार्यकर्ता उपस्थित थी। 



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment