जम्मू कश्मीर में नई सरकार की बनने की संभवना बढ़ी The possibility of the formation of a new government increased in Jammu and Kashmir



महबूबा मुफ्ती ने पेश किया सरकार बनाने का दावा 

श्रीनगर, ( शांतिदूत न्यूज नेटवर्क )  जम्मू कश्मीर में नई सरकार बनाने के लिए विरोधी दल पीडीपी और एनसी हाथ मिलाने को तैयार है। इनका मकसद भाजपा को राज्य में अलग - थलग कराना है। इन दो विरोधी दलों के साथ गठबंधन की सरकार बनाने की दावा पेश करने की तैयारी चल रही है। खबर लिखे जाने तक पीडीपी की महबूबा मफ्ती ने राज्यपाल के पास सरकार बनाने की दावा पेश कर दी है। 

पीडीपी नेता अल्ताफ बुखारी ने बताया कि पीडीपी, नेशनल कांफ्रेस और कांग्रेस सरकार बनाने के लिए हाथ मिलाने को तैयार है। उन्होंने यह भी कहा कि 87 सदस्यीय सदन में 60 विधायक गंठबंधन बनाने के लिए तैयार हो गए है। 

इधर पीडीपी की महबूबा मुफ्ती ने राज्यपाल को पत्र लिखकर नेशनल काॅफ्रेंस और कांग्रेस के सहयोग से सरकार बनाने का दावा पेश किया। पत्र में दावा किया गया है कि नेशनल काॅफ्रेंस के 15 और कांग्रेस के 12 सदस्यों का उन्हें समर्थन है। वहीं पीडीपी के 87 सदस्यीय विधानसभा में 29 विधायक हैं। 

पीडीपी नेता ने कहा कि निर्वाचित प्रतिनिधियों के रूप में हमें लोगों की आकांक्षाओं और उभरती परिस्थितियों पर प्रतिक्रिया देना होता है। अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35-ए पर हमले हो रहे हैं। यह गठबंधन सत्ता में आने के लिए नहीं है। यह पूछे जाने पर कि गठबंधन की औपचारिक घोषणा कब की जाएगी, उन्होंने कहा - इसकी बहुत जल्द घोषणा की जानी चाहिए। ईद मिलाद उन नबी के मद्देनजर आज के लिए कोई योजना नहीं बनायी गयी है।

कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने यहां कहा कि उनकी पार्टी सिद्धांत रूप में उस किसी भी गठबंधन को समर्थन देगी जो ‘‘सांप्रदायिक शक्तियों को दूर रखे।’’ हालांकि पीडीपी या किसी अन्य दल को लेकर कोई निर्णय नहीं किया गया है।  उधर ऐसी हालात में बीजेपी के विधायकों की कल बैठक होने की सूचना मिल रही है। 



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment