बिमला बाॅथम ने सुनी जनपद की पीडित महिलाओं की समस्याएं Bimala Batham heard the problem of afflicted women



गाजियाबाद, ( प्रमुख संवाददाता )  राज्य महिला आयोग उ0प्र0 अध्यक्ष बिमला बाॅथम ने मुख्य विकास अधिकारी रंमेश रंजन के साथ महिला उत्पीडन सम्बन्धी शिकायतो का निस्तारण कलैक्ट्रेट सभागार में किया। उन्होने विभिन्न स्थानों व गाॅव से आयी घरेलू हिंसा से पीडित महिलाओं की  पाॅच समस्याओं का मौके पर ही निस्तारण किया। महिला आयोग की अध्यक्ष ने कहा कि आज की नारी पढी लिखी व जागरूक है। इसलिये किसी भी सूरत में ससुरालीजनों व अन्य किसी का उत्पीडन बरदास्त नही करेगी।  मुख्यमंत्री जी द्वारा भी इस सम्बन्ध में नारी सशक्तीकरा अभियान चलाया जा रहा है। जो कि महिलाओं को जागरूक व अपने अधिकारो के प्रति सचेत कर रहा है। 

उन्होने कहा कि हमारी भी यही मंशा रहती है कि पीडित को न्याय मिलना अत्यन्त आवश्यक है कोई महिला अपने परिवार से सम्बन्धी समस्या लेकर आती है तो हमारा यही प्रयास रहता है कि प्रथम स्तर पर आरोपी पक्ष के साथ समझौता कराकर पीडित का घर बसा रहे। गम्भीर प्रकरणों में दोषी को सजा दिलाना हमारा उद्देश्य है। महिला थाना अध्यक्ष ने बताया कि 30 प्रकरण हमे महिला आयोग द्वारा प्राप्त हुये है जिनमें सम्बन्धित पुलिस क्षेत्राधिकारी द्वारा विवेचना की जा रही है कुछ प्रकरण न्यायालय में विचाराधीन है। उन्होने पुलिस अधीक्षक देहात से कहा कि आरोपी पक्ष के दोषी पाये जाने पर गुंडा एक्ट लगे और अराजक तत्वांे पर सख्त कार्यवाही की जायें। 

जिला प्रावेशन अधिकारी के कार्यालय में आये विभिन्न प्रकरणों की जानकारी महिला आयोग की अध्यक्ष को दी तथा पीडित पक्षों को उनके समक्ष प्रस्तुत किया। महिला आयोग के प्रतिनिधि ने 6306511708 व्हाट्सअप नम्बर पर शिकायत करने हेतु जानकारी दी। और बताया कि महिला आयोग की ई0 मेल आई नचण्उंीपसंलवह/लंीववण्बवउ पर भी सीधे सीधे महिला उत्पीडन सम्बन्धी शिकायत दर्ज की जा सकती है 
           
 इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी प्रशासन, महिला आयोेग की सदस्य अनीता शर्मा,एस0एच0ओ0 महिला थाना, जिला प्रोवेशन अधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी, अधिशासी अधिकारी व सम्बन्धित विभाग के अधिकारी/कर्मचारी व पीडित महिलाएंे उपस्थित थी।



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment