कांग्रेस देश की सभी समस्याओं की जड़ - मोदी Congress is the root cause of all the problems of the country - Modi



जयपुर , ( शांतिदूत न्यूज नेटवर्क )  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस को भ्रष्टाचार लेकर आने तथा उसे पनपाने वाली पार्टी बताते हुये कहा है कि हमने उपर का भ्रष्टाचार खत्म कर जनहित की योजनाओं का 90 करोड़ रुपये सालाना बचाया है तथा अब नीचे का भ्रष्टाचार खत्म करने के लिए संकल्पबद्ध है।उन्होंने कहा कि चार पीढ़ियों से मौज करने वाले लोग दीमक पर दवा छिड़कने से चिल्ला रहे है।

श्री मोदी ने आज यहां विद्याधर नगर में जयपुर में पार्टी प्रत्याशियों के समर्थन में आयोजित जनसभा को सम्बोधित करते हुये कहा कि कांग्रेस राज में खूब लूट खसोट की गयी। मध्यान्ह का भोजन हो या फिर वृृद्धावस्था पेंशन ऐसे लोगों को दी गयी जिनका कोई अस्तित्व ही नहीं था। यह पैसा उठाने वाले साढ़े छह करोड़ ऐसे व्यक्ति पाये गये जिन्होंने कभी जन्म ही नही लिया। उन्होंने कहा कि तकनीक की मदद से ऐसे लोगों का पता लगाया गया और देश के 90 हजार करोड़ रुपये सालना बचाया गया। 

उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार खत्म करने से बहुत से ऐसे लोग नाराज हुये है जो मुफ्त का पैसा ले रहे थे। कांग्रेस राज में उस बेटी के नाम पैसा उठा लिया जाता था जो पैदा ही नही हुयी लेकिन उसे बाद विधवा बना कर भी पैसा उठाने से नही चूके। यहीं लोग आज मुझे गाली दे रहे है। जबकि मैने गरीबों के धन को लूटने वालों को रोकने के लिए फाटक बंद कर दिये। उन्होंने एक स्टील कम्पनी का जिक्र करते हुये कहा कि इस कम्पनी ने बैंक से पैसे लेकर उसे फर्जी कम्पनी को दिया जिसने किसानों से पानी के दाम पर जमीन खरीदी और इसे नामदार के रिश्तेदार को पानी के दाम पर ही बेच दिया। उन्होंने कहा कि पहले बैंकों का पैसा लेकर भागने वाले को पकड़ने का कोई कानून नहीं था लेकिन मैने ऐसा कानून बनाया है कि ऐसे लोग कहीं भी बच नहीं पायेंगे।

राजस्थान में हर बार सत्ता पलटने की परंपरा की बात कहने वालों को गलत ठहराते हुये उन्होंने कहा कि यह सही नहीं है इसी जनता ने भैंरोसिंह शेखावत को लगातार दो बार सत्ता में बैठने का अवसर दिया था। उन्होंने दावा किया कि इस बार भी भाजपा की सरकार बनेगी तथा यह राग दरबारियों के लिए अध्ययन का विषय होगा। उन्होंने कहा राजस्थान नीचे पांचवी पायदान के उठकर ऊपर से पांचवी पायदान आ गया और कारोबार का केन्द्र बन गया।




Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment