उद्यमियों की समस्याओं का त्वरित समाधान सुनिश्चित करें----मुख्य विकास अधिकारी Ensure quick solutions to the problems of entrepreneurs ---- Chief Development Officer



ओैद्योगिक क्षेत्र में व्याप्त अतिक्रमण हटाये जाने की प्रक्रियां सुनिश्चित करायें 

गाजियाबाद, ( प्रमुख संवाददाता )  मुख्य विकास अधिकारी रमेश रंजन ने अधिकारियों को कडे निर्देश दिये कि उद्यमियों की समस्याओं का तेजी से बिना किसी देरी सेे समाधान सुनिश्चित करें ताकि जनपद में औद्योगिक वातावरण उत्रोतर मजबूत बना रहे। उन्होने कहा कि उद्योग अर्थ व्यवस्था की रीढ है। इसलिए जितने उद्योग मजबूत होगें उतनी ही तेजी से हमारी अर्थ व्यवस्था  मजबूत व विकसित होगी। अपर जिलाधिकारी नगर ने भी कडे शब्दों में कहा कि उद्यमियों की समस्याओं के निजात में वह हीला हवाली किसी भी सूरत में बरदास्त नही करेगे। 
मुख्य विकास अधिकारी कलेक्टेªट सभागार में स्माल एण्ड मीडियम स्केल इण्डस्ट्रीज एसोसिएसन की बैठक कर रहे थे। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी द्वारा उद्यमियों की समस्याओं का निराकरण किया गया । उन्होने अधिकारियों को हिदायत दी कि कोई भी अधिकारी बिना उनकी अनुमति के किसी भी उद्योग में निरीक्षण नही करेगें और अनुमति के बाद भी यदि कही किसी उद्यमियों का उत्पीडन की शिकायत प्राप्त हुई तो वह कार्यवाही से हिचकेगें नही। उन्होने कहा कि औद्योगिक क्षेत्रों में विधुत  की उपल्बधता मानक के अनुरूप हर दशा में सुनिश्चित की जाये।  उन्होने कहा कि यदि उद्यमियों को विधुत के नये कनेक्शनों तथा अतिरिक्त लोड बढवाने की आवश्यकता पडती है तो उनको बिना समय गवाये यह सुविधा विधुत विभाग तत्काल उपलब्ध करायें ताकि उद्यमी जान सके कि शासन व प्रशासन उनकी समस्याओं के लिए संवेदनशील है। बैठक में सम्भागीय परिवहन अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि शासन द्वारा ट्रकों की  मालढुलाई क्षमता बढा दी गई है।

उद्यमियों ने सबसे अधिक समस्याये नगर निगम की गिनाई । उद्यमियों ने अवगत कराया कि यू0पी0एस0आई0डी0सी0 द्वारा उनके ओैद्योगिक क्षेत्र में 229 स्ट्रीट लाईट लगवाई गयी थी। जो नगर निगम को हस्तान्तिरित नही हुई उनकी देखभाल हमारे संगठन द्वारा की गयी। अब उक्त लाईट नगर निगम गाजियाबाद को हस्तान्तरित कर दी गयी है। जिसमें 84 लाईट खराब हो चुकी है। अपराधिक घटना की संम्भाना को देखते हुये लाईटे मरम्मत करा दी जाये।  निवेश मित्र पोर्टल पर प्राप्त विभिन्न स्वीकृति/अनुमति/अनापत्तियों हेतु प्राप्त आवेदन पत्रों की समीक्षा में उपायुक्त उद्योग ने मुख्य विकास अधिकारी को अवगत कराया कि विभिन्न विभागो से 1357 आवेदन पत्र प्राप्त हुये है। 151 आवेदन पत्र निरस्त किये गये तथा 344 आवेदन पत्र समय सीमा के अन्तर्गत विभागों के स्तर पर लम्बित है। एवं शेष 408 आवेदन पत्र उद्यमि स्तर पर विभिन्न औपचारिकताए पूर्ण न होने के कारण लम्बित है। इस पर मुख्य विकास अधिकारी ने सभी विभागो के अधिकारियों को निर्देश दिये कि उद्यमियों से सम्बन्धित समस्याये तुरन्त निस्तारित करायी जाये। बैठक मेें अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद लोनी के अनुपस्थित रहने पर अपर जिलाधिकारी नगर ने एक दिन का वेतन काटने के निर्देश सम्बन्धित को दिये। 
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी, अपर जिलाधिकारी नगर, उपायुक्त उद्योग, क्षे़त्रीय प्रदूषण अधिकारी, यू0पी0एस0आई0डी0सी0 के अधिकारी सहित सभी उद्यमी सम्बन्धित विभाग के अधिकारी उपस्थित रहे। 




Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment