विश्व की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था का नाम बन रहा है भारत: शुक्ला India is becoming the world's largest economy: Shukla




साहिबाबाद , ( प्रमुख संवाददाता ) ‘‘ अंतराष्ट्रीय संस्थानों ने अपने सर्वे व रिपोर्ट में भी माना है कि भारत की आर्थीक स्थिति में एक अच्छा सुधार देखने को मिल रहा हैं। आज हमारे देश की अर्थव्यवस्था सुदृढ हो रही हैं। ’’ उक्त विचार केन्द्रिय वित्त राज्यमंत्री शिव प्रताप शुक्ला ने जयपुरिया इंस्टीट्यूट आॅफ मैनेजमेंट, इंदिरापुरम में प्राॅस्पेक्ट्स और चैलेंजेस पर आयेजित इंटरनेशनल काॅफ्रेंस में व्यक्त किया। 

इस मौके पर शुक्ला ने कहा कि भारत की अर्थव्यस्था 100वें स्थान से 77वें स्थान पर पहुंचना आज के समय में एक बहुत बड़ा बदलाव हैं। जनधन योजना के तहत जिन लोगों ने शायद कभी बैंक न देखा था, उनके खाते आज बैंकों में खुले और वो भी जीरो बैलेंस पर। जो खाते जीरो बैलेंस पर खुले थे, लोगों के लिए यह एक आश्चर्य से कम नही था और आज उन खातों में लगभग 87 हजार करोड़ रूपये जमा हो चुके हैं। यह सिर्फ हमारे प्रधानमंत्री के दूरदृष्टता का परिणाम हेैं।  

शुक्ला ने बताया कि प्रधानमंत्री जी ने जो 2 करोड़ नौकरी का वादा पूरा किया था आज हमने उससे भी कई ज्यादा नौकरियां और रोजगार दिया हैं। मुद्रा योजना के अंतर्गत लोगों को रोजगार के लिए सहयोग किया गया और उन लोगों ने रोजगार के माध्यम से अनेक लोगों को नौकरी देने का काम किया। इन योजनाओं के फलस्वरूप ही विश्व में भारत की अर्थव्यवस्था 100वें पायदान से 77वे पायदान पर आ खड़ी हैं। 

काॅफ्रेंस का शुभारम्भ शिशिर जयपुरिया, चेयरमैन, सेठ आनंदराम जयपुरिया एजुकेशन सोसाइटी  के अभिनन्दन भाषण से हुआ। इस अवसर पर उन्होंने इस बात पर जोर दिया की किसी भी देश के आर्थिक विकास के वैश्रिृक परिप्रेक्ष्य में देखना चाहिए और निति विश्ेाषज्ञों को नियमित तौर पर उसकी जाॅच और उनपर पड़ने वाले प्रभाव का अवलोकन करना चाहिए। इंडोनेशिया से आयी मिस होतनिअर ने वैश्रिृक आर्थिक विकास की गति पर प्रकाश डाला। उन्होंने भारत में हो रहे विकास के प्रयासों की प्रशंसा भी की। 

इस मौके पर उपस्थित डाॅ0 अनिल अग्रवाल ने बताया की वर्तमान और भविष्य की चुनौतियों से निपटने के लिए इस तरह की काॅफ्रेंस बहुत मददगार होगी। साथ ही हम सभी को देश के साथ चलना है और अपनी अर्थव्यवस्था को सशक्त बनाए रखना हैं। 

इस काॅफ्रेंस में देश - विदेश से 100 से अधिक शोधकर्ताओं ने अपने शोध पत्र 5 विभित्र तकनिकी सत्र में प्रस्तुत किए। तकनिकी सत्र के अंत में कुछ निष्कर्ष और सुझाव प्रस्तुत किये गए। काॅफ्रेंस में एनवीशनिंग इंडिया 2.0 प्राॅस्पेक्ट्स और चैलेंजेस नामक किताब का विमोचन कार्यक्रम के मुख्य अतिथि शिव प्रताप शुक्ला जी के साथ डाॅ0 अनिल अग्रवाल, डाॅ0 होतनिअर, चेयरमेन शिशिर जयपुरिया, प्रो0  डा0 देवेन्द्र नारंग जी के शुभ कर कमलों द्वारा किया गया। 

जयपुरिया इंस्टीट्यूट आॅफ मैनेजमेंट, इंदिरापुरम में कार्यरत स्टाॅफ को उनके लम्बे कार्यकाल के लिए ’लाॅंग सर्विस अवार्ड’ से सम्मानित किया गया। डाॅ0 अनिल गुप्ता, प्रविन अरोडा, अजय त्रिपाठी व अन्य स्टाॅफ को केन्द्रिय वित्त राज्यमंत्री शिव प्रताप शुक्ला और चेयरमेन शिशिर जयपुरिया ने सम्मानित किया। 
जयपुरिया इंस्टीट्यूट आॅफ मैनेजमेंट, इंदिरापुरम के निदेशक प्रो0(डाॅ) देवेन्द्र नारंग ने उद्घाटन सत्र का समापन काॅफ्रेंस में आये सभी शोधकर्ताओं, शिक्षकों और अतिथियों को धन्यवाद देते हुए किया ।



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment