राजस्थान में बहत्तर प्रतिशत से अधिक मतदान More than seventy percent voting in Rajasthan



जयपुर,  (वार्ता) राजस्थान की पन्द्रहवीं विधानसभा के लिए आज मतदान छिटपुट घटनाओं को छोड़कर शांतिपूर्ण संपन्न हो गया। बहत्तर प्रतिशत से अधिक मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया। 
इसके साथ ही राज्य की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट तथा अन्य दलों के प्रत्याशियों एवं निर्दलीयों सहित 2274 उम्मीदवारों का चुनावी भाग्य इवीएम में बंद हो गया। मतदान सुबह आठ बजे शुरु हुआ जो छिटपुट घटनाओं को छोड़कर सायं पांच बजे शांतिपूर्ण सम्पन्न हो गया जहां 72़ 58 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले।

इस दौरान सर्वाधिक जयपुर जिले के चौमू विधानसभा क्षेत्र में 86़ 47 प्रतिशत तथा सवाईमाधोपुर जिले के बामनवास में सबसे कम 62़ 65 प्रतिशत मतदान हुआ। इसी तरह पोकरण में 85़ 52, सादुलशहर 81़ 91 , सूरतगढ 82़ 29, रायसिंहनगर 82़ 73, पीलीबंगा 83़ 43, प्रतापगढ 80़ 12, बेंगू में 83़ 39 बागीदौरा में 80़ 02 घाटोल में 81़ 35, बायतु में 79़ 50 तथा अन्य कई विधानसभा क्षेत्रों में 70 से 78 प्रतिशत के बीच मतदान हुआ। 
इस दौरान श्रीमती राजे के झालरापाटन विधानसभा क्षेत्र में 74़ 39 एवं श्री गहलोत के जोधपुर में सरदारपुरा विधानसभा क्षेत्र में 65़ 83 तथा श्री पायलट के टोंक विधानसभा क्षेत्र में 73़11 प्रतिशत मतदान हुआ। गृह मंत्री गुलाब चंद कटारिया के उदयपुर विधानसभा क्षेत्र में 65़ 70 प्रतिशत मतदान हुआ। 

राज्य में सुबह मतदान के समय कुछ ईवीएम मशीनों में तकनीकी खराबी तथा चुरु के रतनगढ में मतदान केन्द्र के बाहर पथराव होने से तीन लोगों के घायल होने, सीकर जिले में फतेहपुर में झगड़ा होने के बाद मोटरसाइकिल को आग लगाने तथा बीकानेर के कोलायत क्षेत्र में बज्जू क्षेत्र में एक जीप को आग लगा देने की घटना सामने आई हैं।

इसके अलावा भरतपुर के नदबई क्षेत्र में एक मतदान केन्द्र पर कब्जा जमाने का प्रयास करने पर दो लोगों को गिरफ्तार किया गया हैं। इसी तरह अलवर के बानसूर में कांग्रेस प्रत्याशी शंकुतला रावत पर हमला करने की घटना भी सामने आई।



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment