बुलंदशहर में भीड़ के हमले में पुलिस अधिकारी समेत दो की मौत, एसआईटी जांच के आदेश Two killed, including police officer in the mob attack in Bulandshahr, orders of SIT probe



बुलंदशहर, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो )  उत्तर प्रदेश में बुलंदशहर के स्याना कोतवाली क्षेत्र में सोमवार को गोकशी के विरोध प्रदर्शन के दौरान कथित गौरक्षकों की भीड़ और पुलिस के बीच हुयी झड़प में कोतवाली निरीक्षक समेत दो लोगों की मृत्यु हो गयी जबकि चार अन्य गंभीर रूप से घायल हो गये। मामले की एसआईटी जांच के आदेश दिये गये हैं।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि उत्तेजित गौ रक्षकों ने चिंगरावटी पुलिस चैकी पर जमकर तोड़फोड़ कर आग लगा दी। पुलिस की कई जीप और आधा दर्जन दो पहिया वाहन फूंक डाले गये।  स्याना कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक सुबोध कुमार सिंह की गाड़ी को खेत में घेर कर भीड़ ने पहले गोली मारी, फिर पत्थर व कुल्हाड़ी मार कर हत्या कर दी गई। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में चिंगरावटी गांव के एक गौ रक्षक सुमित कुमार की गोली लगने से मौत हुई। हालांकि आनन्द कुमार एडीजी लाॅ एंड आॅर्डर ने कहा कि यह जांच के बाद ही स्पष्ट हो पायेगा कि मृतक युवक को पुलिस की गोली लगी है या प्रदर्शनकारियों की। झड़प के दौरान पुलिस क्षेत्राधिकारी सत्य प्रकाश, दरोगा सुरेश चैधरी, होमगार्ड का जवान राजेन्द्र के अलावा एक अन्य व्यक्ति पत्थर लगने से घायल हुए हैं।

इस बीच लखनऊ में अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) आनंद कुमार ने बुलंदशहर की घटना की एसआईटी जांच के आदेश दिये है। मामले की गंभीरता को ध्यान में रखते हुये गाजियाबाद और नोएडा से अतिरिक्त पुलिस बल भेजा गया है। जिला मजिस्ट्रेट अनुज कुमार,एसएसपी केबी सिंह और मेरठ मुख्यालय से अपर पुलिस महानिदेशक प्रशान्त कुमार, पुलिस महानिरीक्षक राम कुमार एवं आयुक्त अनिता मेश्राम मौके पर कैम्प किये हुये हैं। एडीजी प्रशान्त कुमार ने दावा किया कि स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है। अभी किसी पक्ष की ओर से कोई मुकदमा दर्ज नहीं हुआ है।



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment