मोहननगर में मिले अज्ञात शव की हत्या नजायज संबंध में हुई थी, दो हत्याभियुक्त गिरफ्तार



साहिबाबाद, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो )  थाना साहिबाबाद के औधोगिक क्षेत्र मोहननगर में 9 दिसंबर को एक प्लास्टिक के बोरे में अज्ञात पुरूष का षव मिला था। पुलिस पार्टी के अथक प्रयास से उक्त शव की पहचान मुकेष उर्फ मार्शल पुत्र रोहतास निवासी गली नं0 14 प्रताप विहार थाना लोनी बार्डर गाजियाबाद के रूप में हुई।  इस सम्बन्ध में थाना साहिबाबाद पर वादी आरिफ पुत्र मौ0 यासीन निवासी कैला भटटा थाना कोतवाली नगर गाजियाबाद द्वारा मुकदमा अपराध संख्या 3581/18 धारा 302/201 भादवि पंजीकृत कराया गया था।

इस हत्या की घटना का खुलासा करते हुए थाना साहिबाबाद पुलिस ने आज लोनी बोर्डर क्षेत्र प्रतापनगर से दो हत्यारो (ललित व रवि) को मय हत्या में प्रयुक्त एक बुलैरो गाडी व एक सुपर स्पलैंडर मोटर साईकिल सहित गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की हैं।

पकड़े गये अभियुक्तों में ललित कुमार पुत्र हरपाल सिंह निवासी ई-599 गली नं0 14 प्रताप नगर थाना लोनी बार्डर गाजियाबाद तथा रवि कुमार पुत्र वीरेन्द्र सिंह निवासी ए-656 गली नं0 14ए प्रताप नगर सबौली थाना हर्ष विहार दिल्ली है। पुलिस के अनुसार पूछताछ में अभियुक्तों ने बताया कि ललित उपरोक्त अपनी पत्नि,बच्चों व माता पिता के साथ प्रताप विहार लोनी बार्डर गाजियाबाद में रहता हैं और पशुओं के ईलाज का काम करता हैं। इसी के पडौस में मृतक मुकेश उपरोक्त भी अपने परिवार सहित रहता था। मृतक मुकेश के अभियुक्त ललित की पत्नि से अवैध सम्बन्ध थे। जिसको लेकर दोनों में कई बार कहासुनी व मारपीट हो चुकी थी, परन्तु मृतक मुकेश मानने को तैयार नही था और अभियुक्त ललित उपरोक्त को कहता था कि मैं तुम्हारी पत्नि को अपने पास रखुंगा तुम नहीं मानोगे तो तुम्हे भी देख लूंगा। 

अभियुक्त ललित ने मृतक मुकेश व अपनी पत्नि को आपत्तिजनक स्थिति में भी देख लिया था तथा उसने मृतक मुकेश को मारने का इरादा कर लिया था। इस काम को अंजाम देने के लिए इसने अपने सगे भतीजे रवि कुमार पुत्र वीरेन्द्र सिंह उपरोक्त को साथ लिया और मुकेश को मारने की योजना बनाने लगा। 8 दिसंबर .़2018 को अभियुक्त ललित व रवि उपरोक्त वसुन्धरा में पशुओं को देखने के लिए जा रहे थे कि इन्हे मोहननगर पर मृतक मुकेश मिला। इन्होने उसे अपनी मोटर साईकिल पर बैठा लिया और मृतक मुकेष को सिकन्दरपुर कट के पास एक डेरी के बराबर में खाली जगह में ले जाकर रस्सी से गला धोटकर हत्या कर दी तथा डेरी पर पडे भूसे के कटटे में मुकेश के शव को छिपा दिया। रवि अपने चाचा सुरेन्द्र की बुलैरो गाडी लेकर आया जिसमें इन दोनो ने प्लास्टिक के कटटे में रखे शव को गाडी में रखा और मोहननगर औधोगिक क्षेत्र में शाम को अंधेरे में फेंक कर चले गये। उक्त हत्या नाजायज सम्बन्धों को लेकर की गयी हैं।



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment