डीएम ‘पूस की रात’ में बाहर निकल बेसहारों के दर्द से हुई रूबरू DM is in the night of 'Pus night'



गाजियाबाद, ( प्रमुख संवाददाता )  मंगलवार को जिलाधिकारी रितु माहेश्वरी द्वारा अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) गाजियाबाद, उप जिलाधिकारी सदर तथा नगर निगम गाजियाबाद की टीम के साथ जनपद में संचालित शेल्टर होम (रैन बसेरों) एवं खुले में रह रहे लोगों के सम्बन्ध में रात्रि 9 बजे औचक निरीक्षण किया। 

शेल्टर होम पुराना बस अडडा - सर्वप्रथम पुराना बस अड्डा स्थित शेल्टर होम का निरीक्षण किया गया जिसमें मौके पर एक व्यक्ति सोता पाया गया। पंजिका का अवलोकन किया गया। पंजिका में 7 व्यक्ति अंकित हैं। चैकीदार ने बताया कि शेष 6 व्यक्ति खाना खाने गये हैं। इस शेल्टर होम में लोगों के सोने के लिए तख्त की व्यवस्था एवं शेल्टर होम में प्रकाश की पर्याप्त व्यवस्था नहीं थी। इस सम्बन्ध में सम्बन्धित जोनल अधिकारी नगर निगम गाजियाबाद को निर्देेशित किया गया कि वह शेल्टर होम में तख्त एवं प्रकाश की पर्याप्त व्यवस्था कराना सुनिश्चित कराये।

रेलवे स्टेशन गाजियाबाद - इसके पश्चात् पुराना रेलवे स्टेशन गाजियाबाद पर निरीक्षण किया गया। रेलवे स्टेशन के किनारे कुछ लोग फुटपाथ पर पालीथीन डालकर रहते पाये गये तथा कुछ लोग खुले में आग जलाकर उसके आस-पास बैठे पाये गये। मौके पर उपस्थित लगभग 35 लोगों को कम्बल वितरण किया गया तथा जोनल अधिकारी कविनगर गाजियाबाद को निर्देशित किया गया कि इन लोगों को तत्काल रमते राम रोड स्थित शेल्टर होम में शिफ्ट करना सुनिश्चित करें। इसके अतिरिक्त रेलवे स्टेशन पर खुले में रह रहे कुछ लोगों के दृष्टिगत नगर निगम गाजियाबाद के उपस्थित अधिकारी को निर्देशित किया गया कि रेलवे स्टेशन पर एक अस्थाई शेल्टर होम की व्यवस्था करायें। 

शेल्टर होम रमतेराम रोड - रमते राम रोड स्थित शेल्टर होम की जाॅंच की गयी जहाॅं कुल 12 लोग रहते हुए पाये गये। उक्त शेल्टर होम में तख्त एवं कम्बल की पर्याप्त व्यस्था थी तथा साफ-सफाई व प्रकाश की भी ठीक व्यवस्था पायी गयी।

शेल्टर होम नासिरपुर फाटक - नासिरपुर फाटक स्थित शेल्टर होम का निरीक्षण किया गया। उक्त शेल्टर होम में 31 व्यक्ति रहते हुए पाये गये। उपस्थित लोगों द्वारा बताया गया कि शेल्टर होम में उपलब्ध टेलीविजन खराब है। टेलीविजन को 2 दिन में ठीक कराने हेतु जोनल अधिकारी कविनगर नगर निगम गाजियाबाद को निर्देशित किया गया। शेल्टर होम में 60 कम्बलों की व्यवस्था थी परन्तु लोगों द्वारा कुछ और कम्बलों की मांग की गयी, जिसके दृष्टिगत 20 कम्बल और शेल्टर होम में उपलब्ध कराने हेतु सम्बन्धित जोनल अधिकारी कविनगर नगर निगम गाजियाबाद को निर्देशित किया गया। शेल्टर होम के सामने वाली सड़क के डिवाईडर में कुछ लोग सोते हुए पाये गये, जिनको तत्काल शेल्टर होम में शिफ्ट करने हेतु जोनल अधिकारी कविनगर नगर निगम गाजियाबाद को निर्देशित किया गया।   
इसके अतिरिक्त जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि नगर निगम जनपद में संचालित सभी शेल्टर होम में आवश्यतानुसार तख्त, कम्बल एवं लाईट की व्यवस्था सुनिश्चित करायें। 



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment