दिव्यांगजनों के लिए निशुल्क सहायक उपकरण वितरण Free auxiliary equipment delivery for the Divas



सांसद वी के सिंह के अध्यक्षता में  276 लाभार्थियों को 512 सहायक यंत्र एवं उपकरण वितरित किए गए।

गाजियाबाद, ( प्रमुख संवाददाता )  आज उ0प्र0 में सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार की एडिप योजना के अन्तर्गत दिव्यांगजनों के लिए निशुल्क सहायक उपकरण  वितरण समारोह मुख्य अतिथि जनरल ड0 वी के सिंह (सेवा निवृत्त) विदेश राज्य मंत्री भारत सरकार की अध्यक्षता में विकास भवन जिला कलेक्टेªट गाजियाबाद के प्रंागण में आयोजित किया गया। 

जिसमें  भारतीय कृत्रिम अंग निर्माण निगम (एलिम्को) कानपुर व सहयोग जिला प्रशासन गाजियाबाद द्वारा जनपद गाजियाबाद के विभिन्न स्थानों के चिन्हित 276 लाभार्थियों को  26 लाख 76 हजार की लागत के 512 सहायक यंत्र एवं उपकरण वितरित किये गये। जिसमें 207 ट्राईसाईकिल, 170 बैसाखियाॅं, 66 कृत्रिम अंग, 04 वाकिंग स्टिक, 38 कान के सुनने की मशीन आदि का वितरण किया गया। 
इस अवसर पर डा0 जनरल वी के सिंह जी ने कहा कि दिव्यांगजन मानव संसाधन का अभिन्न अंग है तथा केन्द्र सरकार के द्वारा दिव्यांगों के लिए नई योजनाओं व कानून में संशोधन के माध्यम से इनके सशक्तिकरण का कार्य कर रही है। इस दिशा में दिव्यांगता की 7 श्रेणियो में वृद्धि कर 21 श्रेणिया कर दी गयी है। उन्होने बताया कि विगत तीन वर्षो में मंत्रालय द्वारा दिव्यांगजनों के लिए अभूतपूर्व कार्य किया गया है। जिनका लाभ पूरी पारदर्शिता के साथ वांछित लाभार्थियों तक पहुचाया गया है। 
इस अवसर पर जिलाधिकारी रितु माहेश्वरी ने अपने उद्बोधन में कहा कि द्विव्यांग भाईयों व बहनों को जिला प्रशासन गाजियाबाद द्वारा सहायक उपकरण का वितरण उनके लिए सहायक व उनके जीवन में नई किरण लायेगा। कृत्रिम अंग बनाने में जयपुर विश्व में प्रथम स्थान रखता है तथा उनके द्वारा बनाये गये उपकरण द्वारा द्विव्यांग के जीवन में नई किरण लेकर आया है। उन्होने बताया कि दिव्यांगजनों के चिन्हिकरण व पंजीकरण के लिए एलिम्कों द्वारा जनपद गाजियाबाद के विभिन्न स्थानों में परीक्षण शिविर आयोजित किये गये जिसमें पूर्व चिन्हित दिव्यांगजनों को सहायक यंत्र व उपकरण आज वितरित किये जा रहे है। जिसमें ट्राईसाकिल, व्हील चेयर, बैसाखी, कान की मशीन, छडी और कृत्रिम अंग व कैलिपर आदि उपकरण शामिल है। 
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी रमेश रंजन, जिला सेवायोजन अधिकारी, जिला दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी, एलिम्को प्रबन्धक आदि उपस्थित रहे।   





Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment