कुम्भ मेले में कल्पवासी, आध्यात्मिक, श्रद्धालु नही चोर उचक्के भी आजमा रहे है भाग्य Kalpajas, spirituals, devotees in the Kumbh Mela are also trying their luck.



कुम्भ नगर । दुनिया का सबसे बड़ा सांस्कृतिक पर्व कुम्भ मेले में कल्पवासी, आध्यात्मिक, श्रद्धालु, तपस्वी एवं कथा वाचक ही नहीं बल्कि चोर और उचक्के श्रद्धालुओं की जेब साफकर अपना भाग्य आजमाने में जुटे है।
        
“कुम्भ का द्वार खुला दरबार” केवल कल्पवासी , श्रद्धालु एवं आध्यात्मिक लोगों के लिए ही केवल नहीं खुला, इस खुले दरबार में चोर, उचक्के भी अपने भाग्य आजमा रहे हैं। एक तरफ जहां आध्यात्म की बयार बह रही हैं वहीं दूसरी तरफ कथावाचक पंडालों मर्यादा पुरूषोत्तम श्री राम, प्रभु श्री कृष्ण की लीलाओं का सुन्दर वर्णन किया जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ भद्गवतगीता, रामचरित मानस समेत अनेक धार्मिक ग्रंथों में रचित जीवन के सार और सदमार्ग पर चलने को प्रेरित प्रसंगो को श्रद्धालुओं काे समझाने का प्रयास किया जा रहा है।
       
भौतिक सुख का त्याग का संयम ,अहिंसा, श्रद्धा एवं काया शोधन के लिए तीर्थराज प्रयाग में  गंगा, यमुना और अदृश्य सरस्वती की रेती पर कल्पवासी कल्पवास कर रहे हैं। पंडालों में कल्पवासी ध्यान, पूजा-पाठ, और साधु-संतो के प्रवचनों को सुनकर अपने जीवन को धन्य कर रहे हैं। अध्यात्म की राह का एक पड़ाव कल्पवास के जरिए स्वनियंत्रण एवं आत्मशुद्धि का जहां प्रयास रहे है वहीं दूसरी तरफ अन्य प्रदेशों से आये उचक्के, उठाईगीरों का गिरोह भी मेले का दुरूपयोग कर रहा है।
   
यहां सब का कारोबार चल रहा है। मेले में बहुत ढ़ाेंगी बाबा भी अपनी धूनी रमाये हुए हैं। बाबा अपना भविष्य भूल लोगों के भविष्य बताने में तल्लीन रहते हैं। कुछ बाबा तो दर्शन करने और पैर छूने पर भभूत का टिक्का लगाकर पैसा वसूल रहे है। यहां जिसकी जैसी नीयत उसकी वैसी बरकत चरितार्थ हो रही है।
      
मेला क्षेत्र में पैरामिलट्री फोर्स, सेना, एटीएस एवं अन्य सुरक्षा एजेंसियां को धता बताते हुए अपराधियों का गिरोह श्रद्धालुओं के सामानों पर हाथ सफा कर चुका है। 20 जनवरी को दारागंज क्षेत्र से पुलिस ने टप्पेबाज गिरोह के 15 सदस्याें को गिरफ्तार किया था। इनके पास से 42 हजार रूपया नगद, कैमरा और जेवरात भी बरामद हुए थे। गिरोह के सदस्य तिमलनाडु के तिरूचिरापल्ली से ट्रेन से यहां पहुंचे थे। इनके अलावा पुलिस ने मेला क्षेत्र से 18 चोरो और कुछ महिला शातिर चाोरों को गिरफ्तार कर चुकी है।
     
पौष पूर्णिमा पर्व के अवसर पर सोमवार को पुलिस ने संगम नोज, रामघाट, हनुमान मंदिर के पास से चोरी करने वाले दो महिलाओं समेत कई चोरों को  गिरफ्तार किया। हालांकि पुलिस ने दोनो महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया।




Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment