नाॅर्वे की प्रधान मंत्री एरना सोलबर्ग ने जिले के गांव निठोैरा गांव स्थित प्राथमिक विद्यालय का दौरा किया Norwegian Prime Minister Erna Solberg visits primary school at village Nithora village of the district



गाजियाबाद, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो  )  नाॅर्वे की प्रधानमंत्री मिस एरना सोलबर्ग ने यूनिसेफ इण्डिया प्रतिनिधि डा यास्मीन अली हक के साथ निठोरा गांव में प्राईमरी एवं अपर प्राईमरी स्कूलों का दौरा किया।  उन्होने सरकार, स्कूल के अधिकारियों एवं समुदाये के सदस्यों को बधाई दी। जिन्होंने स्कूल को पे्ररणा स्पद माॅडल के रूप में विकसित किया है और छात्रों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के साथ हाथ धोने, शौचालय एवं सुरक्षित पेयजल की सुविधाये उपलब्ध करा रहे है। 
स्कूल में बच्चों के साथ वार्ता करते हुये मिस सोलबर्ग ने कहा कि स्कूल के लडको, लडकियों, अध्यापकों और अभिभावकों के साथ मिलकर मुझे बहुत अच्छा लगा। उन्होने कहा कि मेरा मत है कि शिक्षा स्थाई विकास की नीव है गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा की उपलब्धता मनुष्य का सार्वभोैमिक अधिकार हेै। शिक्षा पाने के बाद व्यक्ति अपने जीवन को वेहतर बना सकता है। भारत शिक्षा के क्षेत्र में प्रभावशाली प्रयास कर रहा है। मैं स्थानीय समुदाये एवं यूनिसेफ द्वारा किये गये कार्यो की सराहना करती हॅू। उन्होने कहा कि मेरा मानना है कि स्वच्छता जीवन स्तर का महत्वपूर्ण हिस्सा हेै। सफाई सम्बन्धी सुविधाये सुनिश्चित करती है कि लडकियां सुरक्षित रहे और अपनी स्कूली शिक्षा को जारी रखें। 
इस अवसर पर जिलाधिकारी रितु माहेश्वरी ने कहा कि स्वच्छता का तात्पर्य सिर्फ शौचालय बनाने से ही नही है बल्कि व्यवाहार में बदलाव लाना भी बहुत जरूरी है। हमें गर्व है कि गाजियाबाद जिला आज ओ0डी0एफ0 घोषित हो चुका है और लगभग 100 प्रतिशत परिवारों ने शौचालय बना लिये है और इनका नियमित उपयोग भी किया जा रहा हेै। जिलाधिकारी ने बताया कि ओ0डी0एफ0 के उपरान्त हमने कई आधूनिक प्रथाये शुरू की है जैसे ठोस एवं तरल व्यर्थ प्रबन्धन, कूडे के ढेर को खेल के मैदान या पौधो की नर्सरी में बदलना प्रधान मंत्री सोलबर्ग को मोबाईल एप ऐकसा का डेमोन्स्टेªशन भी दिया गया। जिसका उपयोग कक्षा में सर्पोटिव सुपरविजन के लिये किया जाता है। इस एप का उपयोग गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा को बढावा देने के लिए 1,6,000 से अधिक स्कलों में किया जा रहा है। वे मीना मंच से लडकों और  लडकियों से भी मिली, जिन्होने स्कूलों में लडकियों की उपस्थिति एवं नामांकन के मुद्दे पर रोशनी डाली। मीना मंच स्कूल स्तर पर लडकियों के सशक्तीकरण के लिए युवा लोगों का सामुहिक प्लेटफाॅर्म है। इसके बाद प्रधानमंत्री ने लाईफ स्किल्स एजुकेेशन सत्र के दौरान अभिभावकों से मुलाकात की, उन्होने छोटे बच्चों और उनकी माताओं से मिलकर यह जानने का प्रयास किया कि सामुदायिक स्वास्थ्य कर्मचारी कैसे नवजात शिशुओं का जीवन बचाते है। 

कार्यक्रम के अन्त में प्रधानमंत्री नाॅर्वे ने प्राथमिक विद्यालय के बच्चों के योग कार्यक्रम को देखकर बच्चों की प्रशन्सा की तथा ग्राम प्रधान द्वारा उन्हें स्मृति चिन्ह भेंट किया। कार्यक्रम का संचालन स्कूल के बच्चों ने बैंण्ड के द्वारा किया और स्कूली बच्चों द्वारा शिक्षा की जागरूकता को लेकर नुक्कड़ नाटक भी प्रस्तुत किया जिसकी प्रधान मंत्री नाॅर्वे ने सराहना की । इस अवसर पर विधायक लोनी नन्द किशोर गुर्जर, मुख्य विकास अधिकारी, अपर जिलाधिकारी नगर, अपर जिलाधिकारी प्रशासन , उप जिलाधिकारी लोनी, परियोजना निर्देशक, खण्ड विकास अधिकारी लोनी/रजापुर, जिला पंचायती राज अधिकारी जिला कार्यक्रम अधिकारी जिला सूचना अधिकारी, सहित सभी जनपदीय अधिकारी उपस्थित रहे। 





Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment