हमारा कर्मचारी नहीं रहा है सैयद शूजा : ईसीआईएल Syed Shuja: ECIL



नयी दिल्ली ।   इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) बनाने वाली कंपनी इलेक्ट्रॉनिक्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (ईसीआईएल) ने मंगलवार को स्पष्ट किया कि ईवीएम की डिजाइनिंग से जुड़े होने तथा ईवीएम की हैकिंग संभव होने का दावा करने वाला सैयद शूजा उसका कर्मचारी नहीं रहा है और न ही ईवीएम की डिजाइनिंग या विकास की परियोजना से जुड़ा रहा है।

ईसीआईएल ने आज निर्वाचन आयोग को यह जानकारी दी। कंपनी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक रियर एडमिरल संजय चौबे ने उपनिर्वाचन आयुक्त सुदीप जैन को भेजे पत्र में सैयद शूजा के 2009 से 2014 के बीच ईसीआईएल के कर्मचारी होने के दावे के बारे में लिखा है। कंपनी के रिकॉर्ड की जाँच से पता चला है कि सैयद शूजा ईसीआईएल के नियमित कर्मचारी के तौर पर कंपनी के रोल पर नहीं रहा है। वह 2009 से 2014 के बीच ईवीएम की डिजाइन एवं विकास से भी नहीं जुड़ा रहा है।”

उल्लेखनीय है कि अमेरिका में रह रहे साइबर विशेषज्ञ सैयद शूजा ने सोमवार को लंदन में प्रेसवार्ता कर दावा किया था कि भारत में मतदान के लिए इस्तेमाल की जा रही ईवीएम हैक की जा सकती है और वर्ष 2014 के लोकसभा चुनावों में हैकिंग हुई थी। उन्होंने यह भी दावा किया था कि वह पहले ईसीआईएल में काम कर चुके हैं और ईवीएम की डिजाइनिंग से भी जुड़े रहे हैं।



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment