प्रदूषण नियंत्रण के लिए डा0 भूरेलाल का यूपी सीमा पर दौरा Dr Bhure Lal visits UP border for pollution control



गाजियाबाद, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो )  आज पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित ईपीसीए के अध्यक्ष डाॅ भूरेलाल आनन्द विहार रेलवे टर्मीनल, मैट्रो स्टैशन, बस अड्डा व उसके आस-पास हो रहे प्रदूषण और ट्रैफिक जाम के समाधान के लिये हुये कार्यों को देखने के लिये पहुँचे। वे इससे पहले भी कई बार आनन्द विहार का दौरा कर चुके हंै। इस दौरे का मुख्य उद्देश्य आनन्द विहार व उसके आस-पास हो रहे भारी प्रदूषण और ट्रैफिक की समस्याओं का मामला था।  7 फरवरी 2019 के दौरे में डाॅ भूरे लाल ने सभी विभागों को सख्त निर्देश दिये थे कि किसी भी कीमत पर प्रदूषण में कमी होनी चाहिये। 
सर्वप्रथम डाॅ भूरे लाल ने सभी संबंधित विभागों के साथ पूरे क्षेत्र का दौरा किया। आनन्द विहार बस अड्डे के निकास द्वार और आनन्द विहार रेलवे स्टैशन के प्रवेश और निकास द्वार को देखा और वहां पर ट्रैफिक इंजीनियरिंग पर अधिकारियों को कई कमियों दिखाई व उनके समाधान के लिये आदेश देते हुये बस अड्डे व उसके आस पास सुधार के लिये सख्त निर्देश दिये। 
आनन्द विहार रेलवे स्टेशन की जो नई एंट्री बनी है, उसमें जाने के लिये जो दिशासूचक हैं वो सभी सड़क की बांयी ओर लगे हैं और क्योंकि लोग पुरानी एंट्री के हिसाब से चल रहे होते हैं (जो कि वहां से 1-किलोमीटर आगे है) इसलिये बांयी ओर लगे दिशासूचक दिखते नहीं है। इसके अलावा वहां बसें भी खड़ी होती हंै, जिस कारण दिशासूचक दिखना और भी कठिन हो जाता है। रेलवे दिशासूचक लगाये और एक बड़ा दिशासूचक ईडीएम माॅल के सामने बने फुट ओवर ब्रिज पर लगाया जाये।
  इसके बाद आनन्द विहार बस अड्डे में डिम्प्ट्स के आॅफिस में हुई बैठक में डाॅ भूरे लाल ने कहा कि लगभग सभी विभागों ने काम किया है और मैं इसकी सराहना करता हूँ, लेकिन अभी तक कई काम बाकि रह गये हैं, उनको जल्द से जल्द पूरा करें। मैंने यह भी देखा में कि मेरे दौर के समय ही आप लोग और आपका विभाग ज्यादा सक्रिय होता है, ऐसा नहीं होना चाहिये और प्रदूषण के मामले में किसी भी तरह की कौताही नहीं होनी चाहिये। उत्तर प्रदेश पुलिस व दिल्ली पुलिस पर डाॅ भूरे लाल खास नाराज दिखे। उन्होने बड़ी सख्ती से दिल्ली और उत्तर प्रदेश पुलिस को गलत पार्किंग व डग्गा मार बसों पर अंकुश लगाने के लिये कहा।
आनन्द विहार पुलिस स्टेशन के थानाध्यक्ष स्पेक्टर सूरज भान ने बताया कि हमारे पास थाने के कार्यों के लिये पर्याप्त जगह नहीं है और केवल 3 कमरे उपलब्ध हंै, जिस कारण पुलिस विभाग को काम करने में समस्या आ रही है। ईपीसीए चेयरमैन ने इस पर कहा कि आप 2-3 जगह चिन्हित करके बताये, हम आपको उचित स्थान दिलवा देगें।
डाॅ भूरे लाल ने कहा कि मैं अगली बार जब आऊँगा तो कोई समस्या नहीं होनी चाहिये और मैं फिर कोई बात नहीं सुनुँगा। इसके बाद डाॅ भूरे लाल कौशाम्बी बस अड्डे के काम को देखने पहूँचे। वहां पर बिल्डिंग मैटीरियल न ढके होने पर गाजियाबाद नगर निगम के अधिकारियों को सख्त निर्देश दिये और कहा कि आप लोग स्वयं प्रदूषण फैला रहे हो, तो आम जनता को कैसे जागरूक करोगे। आप इसे ठीक करो और यूपी रोडवेज की बसें आज भी आनन्द विहार बस अड्डे के बाहर सड़क पर भारी संख्या में खड़ी देखी जा सकती हैं, जिस कारण वहां जाम लगता है व भारी गंदगी होती है और बिना वजह रोड़ नम्बर-56 व आनन्द विहार बस अड्डे के बाहर टैªफिक रूक जाता है। सड़क पर सामान बेचने वाले भारी तादाद में आ जाते हंै और वे और भी ज्यादा गंदगी मचाते हैं। यूपी रोडवेज के बसों के ड्राईवर्स को क्षेत्रिय प्रबंधक यूपीएसआईडीसी के द्वारा सख्त आदेश दिया जाये कि किसी भी हाल में कोई भी बसें बाहर सड़क पर खड़ी न हांे। 
ए-ब्लाक, रामपुरी गाजियाबाद में पार्क के चारों तरफ गाड़ियों की डेंटिंग व पेटिंग की दुकानंे व गाड़ियों मरम्मत का काम करने वाली दुकानों को सड़क व पटरी पर बिल्कुल भी कार्य न करने देने के लिये डाॅ भूरे लाल जी ने नगर आयुक्त गाजियाबाद दिनेश चन्द्र को सख्त निर्देश दिये और कहा कि रिहायशी क्षेत्रों में इससे प्रदूषण फैलता है इसे तुरंत बंद करवाये।
इस मौके रेलवे, दिल्ली मैट्रो, दिल्ली पुलिस, दिल्ली ट्रैफिक पुलिस, पूर्वी दिल्ली नगर निगम, यूपी पुलिस, यूपी ट्रैफिक पुलिस, यूपी रोडवेज व गाजियाबाद नगर निगम आदि अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment