गोपालगंज से जदयू प्रत्याशी होंगे डाॅ0 आलोक कुमार सुमन Jdu candidate from Gopalganj will be Dr. Alok Kumar Suman



गोपालगंज, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो )  लोकसभा 2019 के चुनाव की प्रक्रीया आज से शुरू हो गई है। प्रथम चरण के लिए आज से नामांकन की शुरूआत हो गई है। ऐसे में बिहार में सभी प्रार्टियों के प्रत्याशियों की घोषणा भी शुरू हो गई है। गोपालगंल सुरक्षित सीट है और भाजपा, जदयू तथा लोजपा के सीटों के बंटवारे में यह सीट इस बार जदयू के खाते में चला गया है। अभी यहां से भाजपा के जनक चमार सांसद है। हाल ही में जदयू के दामन थामने वाले डाॅ0 आलोक कुमार सुमन को जदयू गोपालगंज से अपना प्रत्याशी बनाकर चुनाव मैदान में मुकाबले के लिए उतार रही है। 

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार गोपालगंज के प्रसिद्ध डाक्टर सुमन को जदयू अपना प्रत्याशी बना रही है। सुरक्षित सीट होने के कारण जदयू के पास डाॅ0 सुमन जैसा कोई अन्य चेहरा व विकल्प नहीं है। पार्टी आलाकमान स्वयं उनके नाम की पैरवी किये है। ऐसे में उनके अलावा कोई दूसरा जदयू का प्रत्याशी वहां से नहीं हो सकता। हालांकि चार अन्य लोगों ने भी टिकट की दावेदारी की हैं। सभी वर्ग में पकड़ होने के कारण उनकी जीत पक्की मानी जा रही है। 

डाॅ0 आलोक कुमार सुमन सामाजिक, मिलनसार तथा हमेशा गरीबों के सहायता के लिए तात्पर्य रहने के कारण जिले में एक अलग पहचान बना रखे हैं। दूसरी तरफ डाॅक्टरों की लाॅबी में भी उनको सम्मान के नजर से देखा जाता है। एक छोटे स्तर दलित परिवार से निकल कर डाॅक्टर की डिग्री हासिल कर जिले में उन्होंने जो नाम कमाया इसके लिए सभी वर्ग उन्हें दाद देता है। वह मिसाल है अन्य दबे, कुचले, निसहाय और दलित समाज के उन लोगों के लिए जो आगे न बढ़ने के लिए उच्ची जातियों पर तोहमद लगाते है। समाज में तो कहीं - कहीं उन्हें दूसरा आॅम्बेडर कह कर पुकारा जाता है। उनका परिवार शिक्षित एवं उच्चे पदों पर कार्यरत है, इससे भी उनका एक अलग पहचान है।

पिछले साल एक शादी समारोह में उनसे मेरी मुलाकात हुई थी, तभी उन पर लोगों द्वारा चुनाव लड़ने का दबाव दिया जा रहा था। हालांकि उस समय वे मना कर रहे थे। लेकिन बाद में पता चला कि वे चुनाव लड़ने के लिए तैयार हो गए है और बीजेपी पार्टी ज्वाइन करने वाले हैं। लेकिन बीजेपी से जनक चमार वर्तमान सांसद को देखते हुए उन्हें यह उम्मीद थी कि टिकट नहीं मिल पायेगा। जब से उनके चुनावी समर में उतरने के कयास लगाये जाने लगे तभी से कुछ लोगों को उनसे घबडाहट होने लगी थी। इसी का नतीजा है कि जून में उनके घर में भीषण डकैती की घटना को अंजाम दिया गया। ऐसा क्षेत्र में उस दौरान चर्चा चला था। अभी हाल में ही 9 मार्च को राज्यसभा संसदीय दल के नेता रामप्रसाद सिंह ने डाॅ0 सुमन को जदयू की प्राथमिक सदस्यता दिलाई। इससे पूर्व मुख्यमंत्री निवास में वे मुख्यमंत्री नितिश कुमार से मिल चुके थे। बताया जाता है कि उसी समय उनकी टिकट गदांटी मुख्यमंत्री द्वारा दे दी गई थी। 



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment