2013 के मुकाबले इसबार कुम्भ में दोगुनी संख्या में श्रद्धालु आएः योगी Compared to 2013 this year, devotees come in double numbers in Kumbh: Yogi



प्रयागराज । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2013 के कुम्भ में 12 करोड़ लोगों ने जबकि 2019 के कुम्भ में 24 करोड़ से अधिक श्रद्धालुओं ने गंगा, यमूुना और अदृश्य सरस्वती के संगम में स्नान किया।

श्री याेगी ने मंगलवार को यहां मीडिया सेंटर में संवाददाताओं से कहा वर्ष 2013 में प्रयाग महाकुम्भ का आयोजन अखिलेश यादव की अगुवाई वाली समाजवादी पार्टी सरकार ने किया था और तत्कालीन नगर विकास मंत्री आजम खान ने उस महाकुम्भ मेले को संपन्न कराया था। उन्होंने दोनों कुम्भ के तुलना करते हुए कहा कि पिछली बार महाकुम्भ में करीब 12 करोड़ श्रद्धालु आये जबकि इस बार यहां 24 करोड़ रही।

उन्होंने कहा कि 2013 के महाकुम्भ में मारीशस के प्रधानमंत्री बड़ी श्रद्धाभाव के साथ आए थे कि वह संगम में स्नान करेंगे, लेकिन उन्होंने गंदगी, बदबू, अव्यवस्था देखी और दूर से ही नमस्कार करके यह कहते हुए चले गए कि क्या यही गंगा है, क्या यही प्रयागराज है।

मुख्यमंत्री ने कहा, 2019 में वाराणसी में प्रवासी भारतीय दिवस में मारीशस के प्रधानमंत्री प्रवीण जगन्नाथ भी आए थे और 24 जनवरी को 400 प्रतिनिधियों के साथ वह स्वयं प्रयागराज पधारे। उन्होंने गंगा की निर्मलता, अविरलता और व्यवस्था देखी और पवित्र संगम में स्नान भी किया।

उन्होंने कहा, 1954 में प्रयाग कुम्भ में मौनी अमावस्या पर 40 लाख श्रद्धालु संगम तट पर आए थे। उस समय भीषण भगदड़ मची थी और सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, 800 से अधिक श्रद्धालुओं की मृत्यु हुई थी। इसी तरह, 2013 के महाकुम्भ में भगदड़ मचने से तीन दर्जन से अधिक श्रद्धालुओं की मौत हुई थी जबकि कई घायल हुए थे। यह पहला कुम्भ है जिसमें श्रद्धालुओं के आगमन की दृष्टि से रिकार्ड बना है और हम कह सकते हैं कि यह कुम्भ निर्विघ्नता के साथ संपन्न हुआ और इसने स्वच्छता और सुरक्षा के नए मानक स्थापित किए।



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment