धन-बल के कारण पारदर्शी चुनाव अभी भी चुनौती: आयोग Transparent elections still due to fundamental challenge: Commission



नयी दिल्ली । चुनाव आयोग ने कहा है कि देश में पूरी तरह पारदर्शी एवं स्वच्छ चुनाव कराना अभी भी एक चुनौती बनी हुई है क्योंकि इसमें धन-बल का इस्तेमाल किया जा रहा है।

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने शुक्रवार को यहां केंद्रीय कर बोर्डों, अर्द्ध सैनिक बलों और अन्य आर्थिक एजेंसियों के पदाधिकारियों के साथ बैठक में यह बात कही। उन्होंने कहा कि हाल के वर्षों में आर्थिक पर्यवेक्षकों की तत्परता और कार्रवाइयों से अधिक धन जब्त किया गया है जिससे चुनाव में गड़बड़ियों पर काफी अंकुश लगा है लेकिन अभी पूरी तरह से यह समस्या सुलझी नहीं है।

उन्होंने इन अधिकारियों से अनुरोध किया कि वे चुनाव को स्वच्छ बनाने के लिए विभिन्न एजेंसियों के बीच बेहतर तालमेल पर जोर दें और संयुक्त तथा संगठित रूप से कार्य करते हुए इसे अंजाम दें। बैठक को चुनाव आयुक्त अशोक लवासा और सुशील चन्द्र ने भी संबोधित किया।

आयोग ने चुनाव शांतिपूर्ण और निष्पक्ष ढंग से सम्पन्न करने के लिए गुरुवार को पर्यवेक्षकों की बैठक की थी जिसमें भारतीय प्रशासनिक सेवा, भारतीय पुलिस सेवा और भारतीय राजस्व सेवा के अधिकारियों ने भाग लिया था।




Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment