तीसरे चरण में 66 प्रतिशत मतदान 66 percent polling in third phase



नयी दिल्ली ।  लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण में 13 राज्यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों की 116 सीटों के लिए मंगलवार को 66 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले। इसके साथ ही लोकसभा की 543 सीटों में से अब तक 303 में मतदान संपन्न हो गया। 

चुनाव आयोग के अनुसार, हिंसा की छिटपुट घटनाओं को छोड़कर मतदान कुल मिलाकर शांतिपूर्ण रहा और अंतिम रिपोर्ट मिलने तक 18 करोड़ 85 लाख नौ हजार 156 मतदाताओं में से 66 प्रतिशत ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। कुछ स्थानों पर मतदान का समय समाप्त होने के बाद भी मतदाता कतार में खड़े थे जिससे मतदान का प्रतिशत और बढ़ सकता है। पहले चरण में 69.45 प्रतिशत और दूसरे चरण में 69.43 प्रतिशत मतदान हुआ था।  ओडिशा विधानसभा की 42 सीटों के लिए भी आज वोट डाले गये। 

मतदान के दौरान पश्चिम बंगाल के बालीग्राम पंचायत इलाके में हुई हिंसा में एक व्यक्ति की मृत्यु हो गयी। वहीं, केरल में 11 मतदाताओं की गर्मी तथा अन्य स्वाभाविक कारणों से मृत्यु हो गयी। ओडिशा विधासभा के एक उम्मीदवार की भी स्वाभाविक मौत हो गयी। 

इस चरण के साथ ही कुल 22 राज्यों तथा केंद्रशासित क्षेत्रों में मतदान सपन्न हो चुका है। इस चरण में कुल 1,640 उम्मीदवारों की चुनावी किस्मत ईवीएम में बंद हो गयी। इनमें भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष अमित शाह, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी, समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता मुलायम सिंह यादव के अलावा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खडगे और शशि थरूर, भाजपा के वरुण गाँधी, के.जे. अल्फोंस, संतोष गंगवार, अनंत हेगड़े, जयाप्रदा और के. राजशेखरन, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की सुप्रिया सूले, शिवसेना के अनंत गीते, समाजवादी पार्टी के आजम खां तथा प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के शिवपाल यादव, लोकतांत्रिक जनता दल के नेता शरद यादव प्रमुख हैं।

असम में सबसे ज्यादा 80.74 प्रतिशत मतदान हुआ। पश्चिम बंगाल में 79.36 प्रतिशत, त्रिपुरा में 78.84, गोवा में 71.74, दादर एवं नागर हवेली में 71.43, केरल में 70.50, छत्तीसगढ़ में 68.30, कर्नाटक में 66.82, दमन एवं दीव में 65.34, गुजरात में 62.89, उत्तर प्रदेश में 61.14, बिहार में 59.97, ओडिशा में 58.55 तथा महाराष्ट्र में 57.74 प्रतिशत मत डाले गये। जम्मू-कश्मीर की अनंतनाग सीट के एक हिस्से में आज मतदान हुआ जहाँ 12.86 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले। इस सीट पर तीन चरणों में मतदान होना है। अगले दो चरणों में भी इस लोकसभा क्षेत्र के बाकी हिस्सों में मतदान होगा। 

कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के उपायों के कारण त्रिपुरा पूर्व सीट के लिए मतदान शांतिपूर्ण रहा। इस सीट के लिए दूसरे चरण में 18 अप्रैल को मतदान होना था, लेकिन सुरक्षा कारणों से इसे तीसरे चरण के लिए टाल दिया गया था। 



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment