संविदा कर्मी की मौत के मामले में एसडीओ सहित चार पर गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज In case of death of contractual worker, four cases including non-intentional murder case filed with SDO



साहिबाबाद, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो )  थाना साहिबाबाद क्षेत्र में उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन के संविदा कर्मी  हरिओम की रविवार को करंट लगने से हुई मौत के मामले में मृतक के भाई के द्वारा लाजपत नगर उपखंड के एसडीओ और अवर अभियंता सहित चार लोगों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज कराया गया है। इस मामले में जिला प्रशासन की ओर से मृतक के परिवार जनों को अंतरिम सहायता के तौर पर पांच लाख रुपये का चेक प्रदान किया गया है।
         
सीओ साहिबाबाद डॉ राकेश कुमार मिश्रा ने बताया कि रविवार को उत्तर प्रदेश पावर कॉरपोरेशन के लाजपत नगर उपखंड में संविदा पर काम करने वाले लाइनमैन हरिओम की पावर केबल का फाल्ट ठीक करने के दौरान हाई वोल्टेज का करंट लगने से मौत हो गई थी। इस मामले में मृतक के भाई शिव कुमार पुत्र नत्थू सिंह जाटव निवासी इकबाल कॉलोनी गरिमा गार्डन साहिबाबाद ने थाना साहिबाबाद में लाजपत नगर उपखंड के एसडीओ विवेक, अवर अभियंता कृष्ण गोपाल, ठेकेदार निर्मल तथा लाइन मैन ओमपाल के खिलाफ गैर इरादतन हत्या की भादवि की धारा 304 रिपोर्ट दर्ज कराई है। आरोप है कि उपरोक्त लोगों ने बिना सुरक्षा उपकरण दिए, जानबूझकर बिना लाइन डिटेक्ट किए, उसके भाई हरिओम को बिजली की लाइन का फाल्ट दूर करने के लिए काम पर लगा दिया। इस दौरान संविदा कर्मी हरिओम की हाई वोल्टेज का करंट लगने से मौत हो गई। यह मामला सरासर लावरवाहीपूर्ण  हत्या का बनता है।
          
इस मामले में संविदा कर्मचारियों और उनके परिवार जनों ने अंबे अस्पताल लाजपतनगर में जहां मृतक का शव रखा हुआ था वहां मौजूद पावर कारपोरेशन के अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी करते हुए देर रात तक हंगामा किया था। उनकी मांग थी कि मृतक के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी व उचित मुआवजा दिया जाए तथा दोषियों के खिलाफ भारतीय कानून के हिसाब से कठोर कार्रवाई तथा विभागीय कार्रवाई की मांग की थी।इस मामले में जिला प्रशासन की ओर से उप जिलाधिकारी गाजियाबाद ने तत्काल मौके पर आकरं मृतक के परिवार को 5लाख के मुआवजे का चेक प्रदान कर उनकी अन्य मांगों को मान लेने का भरोसा देकर उन्हें शांत किया था।रविवार की रात में ही परिवार की मांग पर गैर इरादतन हत्या की रिपोर्ट मृतक के भाई शिव कुमार द्वारा एसडीओ सहित चारों लोगों के खिलाफ लिखायी गई है। इस मामले में आरोपियों के खिलाफ अभी तक कोई गिरफ्तारी या विभागीय कार्रवाई नहीं हुई है। कार्रवाई नहीं होने को लेकर मृतक के परिवारजनों एवं संविदा कर्मियों में रोष है। 
           
मृतक हरिओम की उम्र करीव 35 साल बतायी गयी है तथा वह अपने पीछे पत्नी ,तीन बेटी और एक दो साल के बेटे को छोड़ गये हैं। उसका परिवार बहुत गरीव है तथा वह अनुसूचित जाति से संबंध रखता था। इस घटना से संविदा पर काम करने वाले लाइनमैन न केवल भयभीत है बल्कि अपनी सुरक्षा को लेकर परेशान हैं। इस घटना से मृतक के परिवार में शोक का माहौल है मृतक हरि ओम मूल रूप से गांव हसनपुर थाना सहसवान जिला बदायूं का रहने वाला था तथा यहां गरिमा गार्डन में इकबाल कॉलोनी में किराए पर रह रहा था।
        
लोगों का कहना है कि बार-बार संविदा कर्मचारी ही लापरवाही पूर्ण माहौल में काम करने से क्यों मर रहे हैं। इसतरह की घटनाओं से पावर कॉरपोरेशन के अधिकारी सबक क्यों नहीं ले रहे? मजबूरी में संविदा पर काम करने वाले कर्मचारी हादसे का शिकार हो रहे हैं।  थाना साहिबाबाद पुलिस ने मृतक का शव अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। 



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment