भाजपा लोकशाही से आ गयी तानाशाही में: शत्रुघ्न In the dictatorship that came from BJP democracy: Shatrughan



नयी दिल्ली ।  मशहूर फिल्म अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा शनिवार को भारतीय जनता पार्टी छोडकर कांग्रेस में शामिल हो गये और पार्टी ने उन्हें बिहार की पटना साहिब लोकसभा सीट से उम्मीदवार घोषित कर दिया है। पिछले चुनाव में वह इसी सीट से भाजपा के टिकट पर जीते थे। 

श्री सिन्हा ने शनिवार को यहां कांग्रेस मुख्यालय में पार्टी महासचिव के. सी. वेणुगोपाल, पार्टी मीडिया विभाग के प्रमुख रणदीपसिंह सुरजेवाला, पार्टी के बिहार के प्रभारी शक्तिसिंह गोहिल और बिहार प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मदन मोहन झा की मौजूदगी में कांग्रेस की औपचारिक सदसयता ग्रहण की।

इस मौके पर आयोजित संवाददाता सम्मेलन में श्री सिन्हा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम लिए बिना आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी में सिर्फ एक व्यक्ति की ‘तानाशाही’ चल रही है जो किसी और की बात नहीं सुनते हैं इसलिए उन्होंने कांग्रेस में शामिल होने का निर्णय लिया। 

श्री सिन्हा ने कहा कि भाजपा में उन्होंने नानाजी देशमुख जैसे प्रखर राजनीतिज्ञ से राजनीति सीखी और अटल बिहारी वाजपेयी जैसे बड़े नेता के साथ काम किया। भाजपा जिन लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, जसवंतसिंह, यशवंत सिन्हा जैसे दिग्गजों के मार्गदर्शन में आगे बढी आज उन्हीं सब बड़े नेताओं को निष्क्रिय मार्गदर्शक मंडल में डाल दिया गया है।

अभिनेता ने कहा कि भाजपा में उन्होंने पिछले पांच साल के दौरान बड़े बदलाव देखे हैं। एक व्यक्ति के कारण यह पार्टी लोकशाही से तानाशाही में परिवतित हुई है। उन्होंने आरोप लगाया कि वह व्यक्ति किसी की सुनने को तैयार ही नहीं हैं। उन्हें जो भी सलाह दी जाती है उसे सुनने के बजाय वह सलाह देने वाले को बागी मानने लगते हैं।


Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment