निर्वाचन सम्बन्धित कार्यो में उदासीनता बर्दास्त नही की जायेगी - मण्डलायुक्त Indifference will not be tolerated in election related work



  • मण्डलायुक्त ने लोकसभा सामान्य निर्वाचन की तैयारियों की समीक्षा की
  • 11 अपै्रल 2019 तक अधिकारी रहे सर्तक

गाजियाबाद, ( प्रमुख संवाददाता )  कलेक्टेªट सभागार में लोकसभा सामान्य निर्वाचन-2019 गाजियाबाद संसदीय निर्वाचन क्षेत्र - 12 के लिए आयुक्त महोदय श्रीमती अनीता सी मेश्राम की अध्यक्षता में लोकसभा सामान्य निर्वाचन में लगे नोडल अधिकारियों के साथ महत्वपूर्ण बैठक की गयी। 

उन्होने सम्बन्धित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए कहा कि 12 गाजियाबाद संसदीय निर्वाचन क्षेत्र का प्रथम चरण में 11 अपै्रल, 2019 को मतदान है। जिसे स्वतंत्र निष्पक्ष विधिवत, समयबद्व एवं शान्तिपूर्ण सम्पन्न कराना हम सबका महत्वपूर्ण दायित्व है। उन्होने कहा कि सभी अधिकारी आयोग के दिशा निर्देशानुसार कार्य करते रहे और निर्वाचन कार्यो में किसी भी प्रकार की उदासीनता न बरतें सभी अधिकारी टीम भावना के साथ कार्य करें। उन्होने कहा कि मतदेय स्थलो पर जाने के लिए सम्पर्क मार्ग ठीक होना चाहिए। दिव्यांगों के लिए रैम्प की व्यवस्था, शुद्व पेयजल की व्यवस्था प्रकाश हेतु विधुत की व्यवस्था, टेलीफोन व नेटवर्क की उपलब्धता फर्र्नीचर की उपलब्धता, शाौचालय व सफाई व्यवस्था, होनी चाहिए। 
मण्डलायुकत ने कहा कि दिव्यांग मतदाताओं को किसी भी प्रकार की असुविधा नही होनी चाहिये। उनके लिए एप के माध्यम से हर सुविधा दी जाये। प्रत्येक मतदेय स्थल पर वे्रललिपि के दो-दो नमुना मतपत्र रखें जायें। जिला निर्वाचन अधिकारी ने मण्डलायुक्त को अवगत कराया कि जनपद गाजियाबाद में 694 मतदान केन्द्र है तथा 3041 मतदेय स्थल है। पुलिस व सैक्टर मजिस्टेªट का संयुक्त प्रशिक्षण दिया जा चुका है। वनरेवल व क्रिटिकल बूथों को चिन्हित कर व 10 से ऊपर वाले 332 मतदान केन्द्रों पर माईक्रो आब्र्जबर व वीडियो कैमरें लगाये गये है। प्रत्येक मतदान केन्द्रों पर दिव्यांगजनों के लए व्हील चेयर उपलब्ध रहेगी। सीविजिल एप के द्वारा प्राप्त शिकायतों का समय बद्वता से निस्तारण किया जा रहा है। मतदाता जागरूकता कार्यक्रम जनपद के कम मतदान प्रतिशत वाले क्षेत्रों में नियमित रूप से सिविल डिफेैन्स के द्वारा सम्पादित किये जा रहे है। मतदान कार्मिकों का प्रशिक्षण चल रहा है।  
मण्डलायुक्त ने पुलिस अधीक्षक नगर को निर्देश देते हुये कहा कि मतदान को शान्तिपूर्ण सम्पन्न कराने के लिए पुलिस-प्रशासनिक स्तर पर अधिक से अधिक सर्तकता बरती जाये। असामाजिक तत्वों की गतिविधियों पर सूंक्षमता के साथ पैनी नजर रखी जाये। आदर्श आचार सहिता का शतप्रतिशत अनुपालन होना चाहिये। 
बैठक में जिला निर्वाचन अधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व, अपर जिलाधिकारी भू0अ0, समस्त उप जिलाधिकारी, व निर्वाचन कार्य में लगे नोडल अधिकारी उपस्थित रहे। 




Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment