वसुंधरा में काव्य-संध्या Poetic-evening in Vasundhara



वसुंधरा, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो )  एसजी होम्स साहित्य मंच द्वारा वसुंधरा में पहली बार भव्य काव्य संध्या का आयोजन किया। इस आयोजन में दो दर्जन से अधिक कवियों ने सामाजिक-राजनीतिक व्यवस्था पर अपनी रचना प्रस्तुत की।
       
काव्य संध्या में डा. चेतन आनंद, डा. गुरविंदर बांगा, पीयूष कांति, डा. मनोज कामदेव, मयंक राजेश, जगदीश मीणा, नित्यानंद तिवारी, गिरीश सारस्वत, नीरजा चतुर्वेदी, ज्योति राठौर आदि कवियों और कवयित्रियों ने भाग लिया। कवियों ने अपने काव्य-पाठ से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। अर्चना सिंह ने अपने मधुर स्वर में माँ सरस्वती की वंदना गाकर कार्यक्रम को प्रारंभ किया। पीयूष कांति ने मंच का संचालन किया। सोसायटी के कवि-कवयित्रियों कीर्ति श्रीवास्तव, रश्मि श्रीधर, श्याम नारायण श्रीवास्तव, नरेश शर्मा, जोगिंदर सिंह और योगेश्वर शर्मा ने भी अपनी रचनाओं से श्रोताओं का दिल छुने का प्रयास किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता गुरुगांव से पधारे डाॅक्टर गुरविंदर बांगा ने की। एसजी होम्स सोसायटी में आयोजित इस साहित्य के संगम में एसजी होम्स साहित्य मंच के संयोजक कवि पीयूष कांति के प्रयासों की सभी ने प्रशंसा की। आयोजक मंडल के सदस्यों प्रदीप चैबे, जितेन्द्र खुराना, ललित चैहान, अंकुर श्रीवास्तव, डा. अनिल कुमार, कंचन तिवारी, विशाल जैन, नितिन जैन तथा अन्य साथियों के प्रयासों की सराहना की।
        
समापन के अवसर परं तीन सुप्रसिद्ध साहित्यकारों प्रदीप चैबे, देवेन्द्र शर्मा इन्द्र एवं डा. शेरजंग गर्ग के निधन पर दो मिनट का मौन धारण कर कवियों व लोगों ने अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की।



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment