धर्म के नाम पर राजनिति गलत-गुलाम नवी आजाद Political wrong in the name of religion, slave-liberation new Azad



गाजियाबाद, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो )  कांग्रेस प्रत्याशी डोली शर्मा के समर्थन में कांग्रेस के दिग्गज नेताओं ने आज गाजियाबाद में हुंकार भरी। रैली में खास बात यह रही की कांगे्रस के दिग्गज नेताओं ने विपक्ष पर ज्यादा निशाना ना साधते हुए विकास और शिक्षा पर जोर दिया। 

इस मौके पर सबसे पहले भाषण देते हुए डॉली शर्मा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने मुझ पर जो विश्वास जताया है उसके लिए मै उनका धन्यवाद अदा करती हूां डोली शर्मा ने कहा कि मोदी जी कहते हैं बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ लेकिन राहुल गांधी जी हमें यहां लाकर खड़ा करते हैं हमारे ऊपर विश्वास करते हैं और कहते हैं तुम करो डरो मत। उन्होने कहा कि इस बार सबसे ज्यादा नुकसान किसानों को हुआ है किसानों की दुर्दशा बुरी हुई है ।  जब किसानों के ऊपर अत्याचार हो रहा था तब मोदी जी ने उन्हें नहीं देखा या यह कहें कि तब किसी ने उन्हें नहीं देखा और तो और उन्होंने किसानों का गन्ना रोककर पाकिस्तान से चीनी मंगानी शुरू कर दी ।  सारी परेशानी तो किसानों को हुई है किसानों को डंडे पड़े, खोड़ा में जहरीली शराब से लोग मरे, दिनदहाड़े गोली चलाई गई, बलात्कार हुए लेकिन वह नहीं गए और कहते हैं कि अच्छा भारत नया भारत बनाएगें क्या ऐसे बनेगा नया भारत यदि ऐसा ही बनाएगें तो ऐसा भारत हमें नहीं चाहिए ।  जब किसानों को डंडे पड़ रहे थे तब वीके सिंह अपनी दिल्ली की कोठी में आराम से सो रहे थे सबसे ज्यादा अत्याचार तो किसानों पर ही हुआ है और यह सब आपस में हिंदू-मुस्लिम करने में लगे हैं ।  भूल गए हैं हमारे देश का नारा था हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई आपस में सब भाई भाई , लेकिन 2014 के बाद वह कहीं खो गया है ।  इतनी बेरोजगारी हो गई है युवाओं के पास काम नहीं है करने के लिए और मोदी जी कहते हैं चैकीदार पकोड़ा पान बेचो, लेकिन हम कहते हैं इतने युवा बेरोजगार हैं उन्हें इंजीनियर बना दो आज चैकीदार पकौड़ा पान से काम नहीं चलेगा देश को आगे बढ़ाना है उन्नति लानी है तरक्की लानी है।

रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने कहा कि चुनाव 5 साल में होते हैं पर मेरा 40 साल का तजुर्बा है अगर जनता ने इस बार सोच समझकर वोट नहीं किया तो यह लोकतंत्र का आखिरी चुनाव भी हो सकता है क्योंकि जो आदमी अंदर बैठा है उसे लोकतंत्र पर यकीन नहीं है ।   उसके आदर्श महात्मा गांधी, अटल बिहारी वाजपेई जी के नहीं है बल्कि चीन का राष्ट्रपति जो आजीवन राष्ट्रपति रहेगा उसके हं। मैं दावे के साथ कह रहा हूं पूरा भारत कश्मीर से कन्याकुमारी तक और भारत में कांग्रेस की सरकार बनेगी, क्योंकि पंडित हूं कुंडली जांच लेता हूं 23 मई को नरेंद्र मोदी का जाना तय है और कांग्रेस का आना तय है ।  2014 में जमीन का जलजला था आंधी थी तब भी वीके सिंह को मात्र 31.8ः वोट मिला था 32ः भी पूरा नहीं हुआ अब तो अब तो वह आंधी भी नहीं है तूफान भी नहीं है सिर्फ आवाज है वो भी इनके खिलाफ। उन्होने कहा कि 2014 में इन्होंने कहा था कि बहुत काला धन है सबको 15-15 लाख रुपए मिलेंगे लेकिन आज तक किसी को एक पैसा भी नहीं मिला है। मोदी जी ने कहा था रोजगार मिलेगा दो करोड़ नौकरियां प्रतिवर्ष मिलेंगी तो आज तक तो 10 करोड़ नौकरियां हो जानी चाहिए थी लेकिन उल्टा हुआ है बेरोजगारी बढ़ गई है पेट्रोल के दाम बढ़ गए हैं, महंगाई बढ़ गई है, उन्होने कहा कि बाकी आप लोग खुद समझदार हैं क्या करना है यह फैसला आपका होगा।

मुरादनगर, लोनी और शहीदनगर में हुई जनसभाओं को संबोधित करते हुए गुलाम नबी आजाद ने कहा कि इस दौर में इलेक्शन जीतने के नए-नए तरीके आए हैं कुछ लोग पैसा लेकर वोट देते हैं और कुछ लोग वोट लेने के लिए पैसा देते हैं दोनों तरफ लेने वाला भी है और देने वाला भी है दोनों ही बेईमान है मैंने अपनी जिंदगी में कभी ऐसा नहीं किया है जिंदगी में जब तक लीडर और वोटर उसूल नहीं बनाएंगे। तब तक इसी तरह से खरीदे जाएंगे और बिकते जाएंगे पैसे देकर वोट खरीदता है वह जवाब देह नहीं होता है क्योंकि वह कहता है मैंने वोट खरीदा हैं मैं किसी का मोहताज नहीं हूं। उसे आपकी परेशानी आपकी समस्याओं से कोई हमदर्दी नहीं होती है लोग विकास के नाम पर वोट मांगते हैं धर्म को बीच में लाते हैं कभी इस्लाम तो कभी राम के नाम पर वोट मांगते हैं। मैं खुद मुसलमान होकर हिंदुओं के वोट से जीतना चाहता हूं क्योंकि धर्म अलग हो सकते हैं इंसान नहीं भगवान नहीं अल्लाह नही,ं ऐसा कहीं नहीं लिखा जो हिंदू को गाली देगा वह असली मुसलमान है या जो मुसलमानों को गाली देगा वह असली हिंदू है 

हम एक देश के नागरिक हैं और प्यार और एकता ही हमारी ताकत है। लेकिन भाजपा इस ताकत को खत्म करने में जुटी हुई है। जिसके बाद हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भुपेन्द्र सिंह हुडडा ने कहा कि भाजपा की सरकार किसान-मजदूर विरोधी सरकार है भाजपा जहां भी जाती है, वहां सिर्फ नफरत फैलाने का काम करती है भाजपा का चेहरा सभी के सामने है। गरीब विरोधी मानसिकता के कारण मनरेगा जैसी योजनाओं का लाभ गरीब आदमी को नही मिल पा रहा है। उन्होने 11 अप्रेल को होने वाले चुनावों में डोली शर्मा के लिए वोट मांगे।





Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment