स्वामी महेश योगी ने अनवरत कपालभाति मैराथन करके बनाया विश्व रिकाॅर्ड Swami Mahesh Yogi creates a world record by continuing with Kapalabhati Marathon



वसुंधरा, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो )  वसुंधरा स्थित मेवाड़ ग्रुप आॅफ इंस्टीट्यूशंस परिसर में अयोध्या निवासी सुप्रसिद्ध योग गुरु स्वामी महेश योगी ने तीन दिन तक अनवरत कपालभाति मैराथन करके 51 घंटे दस मिनट का विश्व रिकाॅर्ड बना डाला। उन्होंने इतने समय में पांच लाख पचास हजार आठ सौ बार कपालभाति क्रिया की। उन्होंने कोटा में गत वर्ष बनाया अपना 23 घंटे दस मिनट का रिकाॅर्ड तोड़ा। इस दौरान लोगों व गणमान्य अतिथियों की भीड़ जमा थी। जैसे ही उन्होंने 51 घंटे दस मिनट का अपना रिकाॅर्ड बनाया, लोग तालियां बजाकर पुष्प वर्षा करने लगे। शंख, घंटे-घड़ियालों की मधुर ध्वनियों से पूरा मेवाड़ आॅडिटोरियम गुंजायमान हो उठा। एशिया बुक आॅफ रिकाॅर्ड की टीम ने उन्हें अनोखी चित्र प्रदर्शनी व रिकाॅर्ड कपालभाति करने के लिए प्रमाण पत्र प्रदान किये। उधर, यशोदा अस्पताल कौशाम्बी के डाॅक्टरों की टीम ने चिकित्सा शिविर में 62 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया। मेवाड़ परिसर में ही देश के 1154 महापुरुषों व विशिष्टजनों के चित्रों की पहली बार प्रदर्शनी लगाई गई। जिसे देखने के लिए दूरदराज के लोग व विद्यार्थी उमड़े। योग व कला के इस अद्भुत समागम का समापन धूमधाम से किया गया। 

अंतिम दिन मेवाड़ ग्रुप आॅफ इंस्टीट्यूशंस के चेयरमैन डाॅ. अशोक कुमार गदिया ने समापन समारोह की अध्यक्षता की। कला इतिहास विशेषज्ञा डाॅ. दलजीत कौर मुख्य तो योग गुरु डाॅ. सरोज सिरोही व अखिल भारतीय योग संस्थान की महिला प्रभारी प्रमिला सिंह विशिष्ट अतिथि के रूप में मौजूद रहे। सभी ने स्वामी जी की अद्भुत योग क्षमता की सराहना की और उन्हें पूरी दुनिया में मील का पत्थर करार दिया। कई गणमान्य लोगों को मेवाड़ की ओर से फूलमाला, अंगवस्त्र व स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया गया। सभी अतिथियों व मेवाड़ परिवार के सदस्यों ने स्वामी महेश योगी का माल्यार्पण कर स्वागत किया। कपालभाति और चित्रों को परखने के लिए एशिया बुक आॅफ रिकाॅड्र्स की टीम हैड स्मिता सिंह व विनोद कुमार सिंह, मेवाड़ विश्वविद्यालय के ललित विभाग की डीन डाॅ. चित्रलेखा सिंह भी लगातार कपालभाति मैराथन पर अपनी पैनी निगाह बनाये रहे। मेवाड़ ग्रुप आॅफ इंस्टीट्यूशंस के चेयरमैन डाॅ. अशोक कुमार गदिया व उनके परिवार की ओर स्वामी जी को चांदी की हनुमान जी की प्रतिमा, अंगवस्त्र आदि उपहार भेंट किये गये। इस अवसर पर मेवाड़ ग्रुप आॅफ इंस्टीट्यूशंस की निदेशिका डाॅ. अलका अग्रवाल ने सभी आगंतुकों का आभार व्यक्त किया। संचालन दिव्य भारत निर्माण के विशिष्ट सदस्य अखिलेश कुमार ने किया। 



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment