हिस्ट्रीशीटर व 25 हजार का इनामी बदमाश गिरफ्तार Historiator and 25 thousand prize racket arrested



कब्जे से सोने चांदी के आभूषण व  7500 रूपए नगद व एक पिंटो कार व अवैध असलाह बरामद  

गाजियाबाद, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो  )  थाना कविनगर पुलिस द्वारा मुखबीर की सूचना पर कल दोपहर ढाई बजे अवन्तिका कट से पिंटो कार  में बैठे बदमाश को रोकने का प्रयास किया गया तो गाड़ी में बैठे बदमाश ने भागने का प्रयास करते हुए हाथ मे तमन्चा निकालकर लोड करने लगा । उसी समय पुलिस टीम द्वारा बदमाश को भागने एवं पुलिस टीम पर फायर करने के प्रयास को विफल करते हुए एक बदमाश को मय एक तमंचा 315 बोर 5 जिंदा कारतूस सहित गिरफ्तार कर लिया गया । 

पुलिस के अनुसार उसके कब्जे से मुकदमा अपराध संख्या 896/2019 धारा 380, 454 से संबंधित 7500 रुपए नगद एवं चोरी के रुपए से खरीदी गई पिंटो कार बरामद की गई। जिसकी निशानदेही पर अन्य सोने एवं चांदी के जेवरात बरामद किए गए जिनकी कुल कीमत करीब 06 लाख रुपये है गिरफ्तार अभियुक्त थाना कविनगर का हिस्ट्रीशीटर नंबर 5। बदमाश है जिस पर करीब तीन दर्जन अभियोग विभिन्न विभिन्न थानों में पंजीकृत है जिसकी गिरफ्तारी पर श्रीमान पुलिस-उपमहानिरीक्षक / वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जनपद गाजियाबाद द्वारा  25000 रूपए का पुरस्कार घोषित है । जो थाना फेस- 3 नोएडा से लूट एवं थाना इन्द्रापुरम से वाहन चोरी तथा कविनगर से चोरी व पुलिस मुठभेड मे वांछित चल रहा था ।  

पुलिस ने बताया कि पकड़ा गया अभियुक्त योगेश उर्फ बाबू पुत्र अमीचंद निवासी शाहपुर  बम्हेटा थाना कविनगर गाजियाबाद है। योगेश उर्फ बाबू ने पूछताछ में बताया कि मैंने अपने अन्य साथियों शाहरुख, इमरान, मोनू के साथ मिलकर अपने ही ग्राम बम्हैटा से कर्नल के घर से 27 अप्रैल 19 को दिन में चोरी की थी जिसमें हमको करीब 70 हजार  रुपए नगद एवं करीब 8 लाख का सोने एवं चांदी का जेवर और एक लाइसेंसी पिस्टल .32 बोर मिला था।  जिसमे से मेरा एक साथी शाहरुख 18 मई 19 को पुलिस मुठभेड मे गोली लगने से घायल हो गया था और मै फायरिंग करते हुए 16 मंजिला सदरपुर रोड से झाडियो मे छूपकर भाग गया था जिसमें लाइसेंसी पिस्टल शाहरुख के पास थी ओर उन चोरी के रुपये मे से अन्य घटना करने के लिए यह पिंटो कार करीब 90 हजार रुपये की खरीदी थी तथा सोने एवं चांदी के कुछ आभूषण  मेरे घर पर रखे थे जो मैने पुलिस को बरामद करा दिये है ।



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment