बंगाल की घोर उपेक्षा कर रहा है केंद्र : ममता Bengal is ignoring neglect of Bengal: Mamata



नामखाना । तृणमूल कांग्रेस प्रमुख एवं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाया कि वह राज्य की उपेक्षा कर रही है और उसके हक से वंचित कर रही है।

सुश्री बनर्जी ने मथुरापुर लोकसभा क्षेत्र अंतर्गत दक्षिणी 24 परगना जिले के नामखाना में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र ने अपने वादे के अनुरूप मुरीगंगा नदी पर पुल का निर्माण नहीं किया। उन्होंने कहा,“ आज का दिन बंगाल के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। वर्ष 2011 में इसी दिन 34 साल से राज्य की सत्ता में काबिज वाम मोर्चा के अराजक शासन का अंत हुआ। इसी के साथ ही मां-माटी-मानुष का राज आया।” 
उन्होंने कहा,“ जनता को मेरी ओर से बहुत-बहुत बधाई।”

उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि मोदी ने नोटबंदी शुरू की और जिसका परिणाम यह हुआ कि लोगों के रोजगार छिन गये तथा किसानों को आत्महत्या करनी पड़ी। उन्होंने कहा, “ जिन युवाओं के हाथ से उनका रोजगार चला गया, हमने उन्हें कौशल प्रशिक्षण और रोजगार के अवसर देने का निर्णय लिया है। पैंतालीस साल में सबसे अधिक बेरोजगारी मोदी के शासन काल में हुई। हमने बंगाल में बेराेजगारी की दर 40 प्रतिशत कम की है।” 

उन्होंने कहा कि भाजपा का केवल एक ही काम है दंगे फैलाना और वह लोगों के बीच अलगाव पैदा करते हैं।
तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ने कहा, “ गृह मंत्रालय का एक सेवानिवृत्त अधिकारी जिसकी पत्नी मालदा में भाजपा उम्मीदवार है, बंगाल में केंद्रीय बलों को तैनात कर रहा है। वह भाजपा के पक्ष में प्रचार कर रहे हैं। कानून एवं व्यवस्था राज्य सरकार के अधीन है। सीआरपीएफ को भाजपा से डरना नहीं चाहिए। उन्हें संविधान के मुताबिक अपनी ड्यूटी करनी चाहिए।”

उन्हाेंने लोगों से कहा,“ वाम दल अथवा कांग्रेस को वोट ने दें। इनको वोट देना केवल भाजपा को मजबूत करना होगा।” उन्होंने आरोप लगाया कि अच्छे दिन के नाम पर रसोई गैस, पेट्रोल के दाम बढ़ाये जा रहे हैं। वे दलित आदिवासियों, पत्रकारों और आम जनता पर अत्याचार कर रहे हैं।



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment