पहले की तरह होगी मतगणना, कानून-व्यवस्था चाक चौबंद Counting will be like before, law and order chalk



नयी दिल्ली । सत्रहवीं लाेकसभा की 542 सीटों और चार राज्यों की विधानसभाओं के लिए हुये मतदान के बाद गुरुवार को होने वाली मतगणना की सभी तैयारियाँ पूरी कर ली गयी हैं। मतों की गिनती पहले की तरह ही होगी तथा गिनती पूरी होने के बाद ही वीवीपैट पर्चियों का मिलान किया जायेगा।

इस बीच केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने कुछ राजनीतिक दलों के नेताओं द्वारा मतगणना के परिणाम अनुकूल नहीं आने पर हिंसा की धमकी दिये जाने के मद्देनजर सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों तथा पुलिस महानिदेशकों से मतगणना के दिन कानून-व्यवस्था बनाये रखने के लिए सभी जरूरी कदम उठाने को कहा है।

मतगणना शुरू होने के समय वीवीपैट की पर्चियों का ईवीएम से मिलान करने की 22विपक्षी दलों की माँग ठुकराने के बाद आयोग ने पहले की तरह ही मतों की गिनती कराने का फैसला किया है। इस बारे में सभी आवश्यक दिशानिर्देश राज्य चुनाव अधिकारियों को दे दिये गये हैं।

मतगणना गुरुवार सुबह आठ बजे से होगी। देश भर में बनाये गये मतगणना केंद्रों पर बड़ी संख्या में सुरक्षाकर्मी तैनात कर दिये गये हैं और मीडिया के लिए भी समाचार संकलन करने के लिए आवश्यक सुविधाएं मुहैया करायी गयी हैं। किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए सभी प्रबंध किये गये हैं।


Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment