गाजियाबाद लोकसभा सीट: रिकार्ड मतों से एक बार फिर जीत वी के सिंह Ghaziabad Lok Sabha seat: Once again by victory of VK



गठबंधन प्रत्याशी सुरेश बंसल को दी शिकस्त

गाजियाबाद, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो )  गाजियाबाद पर वोटों की गिनती शुरू होने के साथ ही सबकी नजर टिकी हुई है। पार्टी के अंदुरूनी खटास एवं बीजेपी के विधायकों द्वारा ही पार्टी के केंद्रीय मंत्री बी के सिंह की शुरूआती विरोध को देखते हुए जिलों के लोगों में भारी मतगणना के दौरान उत्सुकता दिखी।  दिल्ली से सटी यूपी की गाजियाबाद सीट पर केंद्रीय मंत्री जनरल वीके सिंह ने 8 लाख 79 हजार पांच सौ 43 वोटों से जीत हासिल कर ली है। उन्होंने गठबंधन प्रत्याशी (समाजवादी पार्टी) सुरेश बंसल को 4,55,267 वोटों के अंतर से शिकस्त दी है। 

केंद्र सरकार में विदेश राज्यमंत्री वीके सिंह इस सीट पर 2014 में पहली बार सांसद चुने गए थे। 2014 से पहले इस सीट पर केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह चुनाव लड़ चुके हैं। 2014 में इस सीट से बीजेपी ने वीके सिंह को उम्मीदवार बनाया था और यहां जीतने के बाद वह केंद्र में मंत्री भी बनाए गए थे। इस बार लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने यहां से महिला उम्मीदवार डॉली शर्मा पर भरोसा जताया है, वहीं महागठबंधन की ओर से यहां पर सुरेश बंसल उम्मीदवार बनाए गए। 

2008 में परिसीमन के बाद गाजियाबाद सीट अस्तित्व में आई। ऐसे में यहां केवल दो चुनाव हुए हैं। साल 2009 में यहां बीजेपी से राजनाथ सिंह जीते थे वहीं साल 2014 में यहां वीके सिंह जीते। 2014 में कांग्रेस ने यहां से राज बब्बर को टिकट दिया था लेकिन वीके सिंह को यहां साढ़े 5 लाख से ज्यादा मतों से रेकॉर्ड जीत मिली थी। वहीं दूसरे नंबर पर राज बब्बर रहे जिन्हें कुल 1,91, 222 वोट मिले थे। इस बार फिर बीजेपी ने यहां पर वीके सिंह को प्रत्याशी बना दिया। वहीं कांग्रेस ने डॉली शर्मा को टिकट देकर युवा और महिला वोटरों को रिझाने की कोशिश की। इस सीट पर जीत की उम्मीद करते हुए गठबंधन ने पहले यहां पर एसपी ने सुरेंद्र कुमार मुन्नी को प्रत्याशी घोषित किया था। लेकिन 22 मार्च को एसपी ने पूर्व विधायक सुरेश बंसल को अपना उम्मीदवार बनाने का ऐलान कर दिया। हालांकि सभी कयासों को विराम देते हुए जनरल वी के सिंह ने एक बार फिर रिकार्ड मतों से जीत हासिल की है। कार्यकर्ताओं में भारी जोश देखने को मिल रहा है।  




Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment